मजदूर सेवार्थ पाठशाला की विवेकानंद नीडम इकाई पर...

ताइक्वांडो प्रशिक्षण शिविर में 90 बेटियों का किया उत्साहवर्धन

ग्वालियर। मजदूर सेवार्थ पाठशाला की विवेकानंद नीडम इकाई पर आज ताइक्वांडो के प्रशिक्षण शिविर में 90 बेटियों के उत्साहवर्धन एवं सशक्तीकरण तथा मानसिक शारीरिक एवं भावनात्मक रूप से सुदृढ़ता प्रदान करने के उद्देश्य से एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रातः 7:00 से 8:30 बजे की बेला में अंतरराष्ट्रीय पैरालंपिक तैराक इंग्लिश चैनल तथा कैटरीना चैनल को फतेह करने वाले ग्वालियर निवासी तेनजिंग नोर्गे साहसिक अवार्ड 2019 एवं विक्रम अवार्ड से सम्मानित श्री सत्येंद्र सिंह लोहिया जी, मध्यप्रदेश दिव्यांग क्रिकेट टीम के कप्तान कबीर सिंह भदोरिया, उत्कृष्ट दिव्यांग क्रिकेटर श्री जनरल सिंह धाकड़ की उपस्थिति में बच्चियों को समाज का अविभाज्य तथा प्रगतिशील नागरिक बनाने हेतु प्रेरक तत्वों से  सिंचित किया गया। 

अपने प्रेरक उद्बोधन में श्री सत्येंद्र सिंह लोहिया जी ने कहा कि मैं ग्वालियर के पास ही ग्रामीण अंचल, गाता में वैशली नदी में बचपन में तेरा करता था। सकारात्मक और स्वस्थ दृष्टिकोण तथा हिम्मत ना हारने की प्रवृत्ति ने आज इस मुकाम पर पहुंचाया। श्री लोहिया ने अपने प्रेरक भाषण में व्यक्त किया कि कबीर सिंह जी भदोरिया एवं जनडैल सिंह जी धाकड़ , मेरे दाहिनी ओर बैठे हैं, दिव्यांग होने के बावजूद भारत के विभिन्न राज्यों में क्रिकेट के माध्यम से दिव्यांगों का सफलतापूर्वक भारत के विकास की मुख्यधारा में समावेशन कर रहे हैं। 

नीडम की संचालिका आदरणीय दीदी सरोज अग्रवाल ने भारत और भारतीयता को साथ में लेकर आगे बढ़ने का आवाहन किया। उन्होंने कहा कोई व्यक्ति ,बेटी ,जाति धर्म, संप्रदाय ,शारीरिक कमी कोई अन्य अभाव के कारण दिव्यांग नहीं होता। यह हमारा दर्शन है जिससे हम अपने आपको तथा किसी अन्य व्यक्ति को दिव्यांग या कमजोर समझते हैं। श्रीमती शकुन वैश्य विवेकानंद नीडम से यह विचारधारा ग्रहण करने हेतु आव्हान किया स्वामी विवेकानंद तथा अन्य भारतीय मनीषियों को अपनी प्रारंभिक अवस्था में कितना सामाजिक तथा अन्य संघर्ष करना पड़ा।

परंतु वे इन संघर्षों को जीवटता से लड़ते हुए भारतीय संस्कृति के परचम को विश्व पटल पर आलोकित में सफल हुए। इसके पूर्व पाठशाला के संरक्षक ओपी दीक्षित भूतपूर्व व्याख्याता  ने सभी अतिथियों का परिचय करवाया। संस्था 'मन की उड़ान 'उसके अध्यक्ष नीलेश जोतवानी जी और उनका संगठन विगत 25 दिन से लगभग 80 बेटियों को जो बाल्यावस्था और किशोरावस्था में है, मार्शल आर्ट और ताइक्वांडो के माध्यम से किस प्रकार आत्म निर्भर और निर्भय बना रहे हैं। इस पर भी चर्चा की गई। 

मध्य प्रदेश की प्रख्यात समाज सेविका एवं व्यवसायी श्रीमती प्रेमा अग्रवाल, श्रीमती सीमा जी बड़ी संख्या में पत्रकार बंधु, समाजसेवी तथा बच्चों के अभिभावक भी उपस्थित थे।उल्लेखनीय है कि कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए सभी बच्चों से मास्क तथा शारीरिक दूरी बनाए रखते हुए अपनी गतिविधियां संपन्न करने हेतु आवाहन किया गया। समूह के संयोजक श्री मनोज पांडे जी भूतपूर्व सूबेदार मेजर तथा श्री बृजेश शुक्ला जी ने अंत में अतिथियों का तथा नीडम एवं  समाज का हार्दिक आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर शहर के वरिष्ठ पत्रकार ,समाजसेवी श्री प्रदीप लक्षणे जी ,श्री नवनीत पचौरी जी एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। मुख्य अतिथि श्री सत्येंद्र सिंह लोहिया एवं श्रीमती शकुन वैश्य के द्वारा प्रदत शिक्षण सामग्री एवं स्वल्पाहार का वितरण उपस्थित सभी बच्चों एवं पालकों में किया गया।कार्यक्रम का संचालन स्वयंसेवक श्री योगेंद्र सिंह गुर्जर के द्वारा किया गया।अंत में राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।