लेकिन वे इस जिंदगी को भी कितनी जीवंतता से एंजॉय कर रही है यह वाकई काबिले तारीफ है

वक्त इंसान को कब अर्श से फर्स पर पहुंचा दे इसका जीवंत उदाहरण हैं ये मोहतरमा...