कोरोना की रोकथाम हेतु संक्रमण की चैन तोड़नी आवश्यक…

क्वारेंटाइन किये लोगों को घूमते पाए जाने पर होगी कार्रवाई : कार्तिकेयन

मुरैना। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी बी कार्तिकेयन ने जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारियों, तहसीलदारों, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायतों एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु संक्रमण की चैन तोड़नी आवश्यक हैं, जिसके लिए जिले के प्रत्येक क्षेत्र में कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवाया जाए। कलेक्टर ने कहा हैं कि संक्रमण प्रभावी राज्यों एवं जिलों से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जानकारी संधारित कर उन्हें होम आइसोलेट कर उनकी सतत निगरानी रखी जाए।

पॉजिटिव होने के कारण होम क्वारंटाइन में व्यक्तियों को मेडिकल किट उपलब्ध करवाए जाए तथा उनके स्वास्थ्य स्थिति की सतत निगरानी के साथ ही आइसोलेशन, क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों पर दंडात्मक कार्यवाही की जाये। होम आइसोलेशन में इलाजरत प्रत्येक व्यक्ति के घर और अपने कमरे से निकलने पर प्रतिबंध है उसे अनिवार्यतः आइसोलेशन का पालन करना होगा। यदि ऐसे किसी व्यक्ति के विरुद्ध शिकायत आती है कि पॉजिटिव होने के बाद भी घर से बाहर घूम रहा है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई करते हुए उन्हें कोविड-19 केयर सेंटर में रखा जाएगा। कलेक्टर ने अनुविभागवार अनुविभागीय अधिकारियों एवं तहसीलदारों से संक्रमण  रोकने के लिए बेवजह घूमने वाले लोगो के विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। उन्होंने सर्वाधिक संक्रमण प्रभावी ग्रामों में बड़े कंटेन्टमेंट क्षेत्र बनाकर लोगों की आवाजाही को सख्ती से रोकने हेतु निर्देशित किया। 

जिले से ग्रामों में आने वाले व्यक्तियों को शासकीय भवन, स्कूलों, पंचायत भवन में संस्थागत क्वारंटाइन करने के निर्देश दिये। उन्होंने ग्रामों में किल कोरोना अभियान चलाकर लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण करने तथा मेडिकल किट का वितरण करने के निर्देश दिये। वर्तमान में पंजीकृत किसानों से किये जा रहे गेंहू उपार्जन को  कोरोना संक्रमण से बचाव के उपाय के साथ व्यवस्थित एवं सुरक्षित रूप से सम्पन्न करने के लिए कहा है। कलेक्टर ने उपार्जन केंद्रों में संक्रमण से बचाव के लिए सभी मानक व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए पंजीकृत किसानों को उपार्जन के लिए उपार्जन केंद्र पहुँचने के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश भी दिए।