विश्व स्वास्थ्य संगठन के सहयोग से…

प्रदेश को मिले 100 और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर 

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग बुधवार को मालवीय भवन, तुलसी नगर स्थित ड्रग स्टोर में 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की प्राप्ति के समय मौजूद रहे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यू.एच.ओ.) के सहयोग से प्राप्त इन कंसंट्रेटर को प्रदेश के विभिन्न जिलों में वितरित किया जायेगा। मंत्री श्री सारंग ने बताया कि डब्ल्यू.एच.ओ. के माध्यम से 4000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर अलग-अलग राज्यों को प्राप्त हुए हैं। यह कंसंट्रेटर मरीजों के इलाज के लिये उपयोग साबित होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिये सरकार लगातार प्रयासरत है। 

उसी का नतीजा है कि प्रदेश में पॉजीटीविटी रेट में कमी और रिकवरी रेट में बढ़ोत्तरी हुई है। जनता के आत्म-अनुशासन से प्रदेश का स्थान कोरोना के आकड़ों में नीचे आया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सामाजिक संगठनों और स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं के प्रयासों की प्रशंसा की है। मंत्री श्री सारंग ने कहा कि म्यूकोरमाइक्रोसिस (ब्लैक फंगस) के इलाज के लिये सरकार लगातार प्रयास कर रही है। पाँच मेडिकल कॉलेजों में नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था की गई है। ब्लैक फंगस के उपचार के लिये टास्क फोर्स का गठन भी किया गया है। 

अगले 15 दिन म्यूकोरमाइक्रोसिस की प्राथमिक लक्षणों पर पहचान कर उसके उपचार का अभियान चलाया जा रहा है। नेजल एंडोस्कोपी फ्री ऑफ कॉस्ट करने के लिये ई.एन.टी. एसोशियेशन और प्रायवेट सेक्टर से बात की जा रही है। सभी डीन और ई.एन.टी. सर्जन के साथ मिलकर इसके इलाज के लिये विस्तृत रूपरेखा तैयार की जा रही है। इसके साथ ही इसके इलाज के लिये दवाईयों की समुचित व्यवस्था भी की जा रही है। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी, डब्ल्यू.एच.ओ. के स्टेट टीम लीडर डॉ. अभिषेक जैन और डॉ. जतिन ठक्कर मौजूद थे।