मुख्यमंत्री ने जिलों के कलेक्टरों,एसपी,कमिश्नरों,आईजी से की वर्चुअल चर्चा…

कलेक्टर्स, कोरोना संक्रमण का पूरी ऊर्जा के साथ मुकाबला करें : CM

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति और ऑक्सीजन व्यवस्था के लिए युद्ध स्तर पर कार्य जारी है। प्रदेश के जिलों में 94 कोविड केयर सेंटर का संचालन आरंभ हो गया है। प्रत्येक जिले को 2 करोड़ रूपये व्यवस्था के लिए उपलब्ध कराये गये हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री राहत कोष से प्रत्येक जिले को एक-एक करोड़ रूपये अलग से जारी किये गये हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज निवास से सभी कलेक्टर्स, कमिश्नर्स, एसपी और आईजी से वर्चुअल चर्चा कर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हो रहे प्रयासों की जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए। 

वीडियो कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि इंदौर एयरपोर्ट पहुँचे 200 बॉक्स में कुल 9 हजार 264 रेमडेसिविर इंजेक्शन आए हैं। इनमें से स्टेट प्लेन के माध्यम से 42 बॉक्स भोपाल, 7 रतलाम और 4 खंडवा पहुँचाये गए। इसी तरह स्टेट प्लेन से 19 बॉक्स ग्वालियर, 18 रीवा, 39 जबलपुर और 14 सागर पहुँचाये जा रहे हैं। इंदौर के लिए 57 रेमडेसिविर इंजेक्शन के बॉक्स रखे गए हैं । 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि सभी कलेक्टर्स कोरोना संक्रमण का पूरी ऊर्जा के साथ मुकाबला करें। नागरिकों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जाएँ। सावधानियों का पूरी तरह पालन हो। ऑक्सीजन, औषधियों और बिस्तरों की व्यवस्था सहित सभी आवश्यक कार्यों को यथा समय पूर्ण किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा प्रदेश के कलेक्टर्स से चर्चा कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम और प्रबंधन के लिए किए जा रहे कार्यों की विस्तार से जानकारी भी प्राप्त की। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन हो। जहाँ कोरोना कर्फ्यू नहीं लगा है वहाँ आवश्यक हो तो करोना कर्फ्यू लगाया जाए। जिलों में प्रभारी बनाए गए मंत्रियों से भी कलेक्टर्स परामर्श करें, मुख्यमंत्री कार्यालय और स्वास्थ्य विभाग से भी सतत् संपर्क में रहें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कुछ जिलों में नवाचार भी हुए हैं, जैसे भोपाल में ऑक्सीजन के लिए टैंकर की व्यवस्था की गई। बड़वानी में जाँच की दरें नियंत्रित कर जनता को राहत दी गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि भोपाल में एम्स और रेडक्रॉस हॉस्पिटल में भी बिस्तर क्षमता बढ़ाई जा रही है। 

जबलपुर के सुख सागर अस्पताल और अन्य नगरों में निजी अस्पतालों का सहयोग भी ले रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कल उनकी कोरोना वॉलेंटियर्स से भी चर्चा हुई। उनमें अच्छा जज्बा है। स्वैच्छिक संगठन कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में सहयोग करें। रहवासी संघ और कॉलोनियों की समितियाँ लोगों को अनावश्यक घर से बाहर न निकलने का संदेश दें। जनता का साथ होगा तो यह संक्रमण नियंत्रित हो जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कलेक्टर आम जनता को जागरूक करें और उनमें विश्वास स्थापित करें। 

अपनी टीम सहित स्वयं भी स्वस्थ रहें। प्रशासनिक अधिकारी अपनी प्रतिभा का पूरा उपयोग करें। पूरे सेवाकाल में ऐसी चुनौतियाँ कम ही आया करती हैं। इस आपदा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करें। सभी मिलकर टीम के रूप में कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह आपातकाल है। अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें। नागरिक गण आराधना, पूजा आदि घर में ही करें। पर्व त्यौहार घर में मनाएँ। सभी के मिले- जुले प्रयासों से कोरोना पराजित होगा और हम अवश्य जीतेंगे।