मौत का आंकड़ा पहुंचा 400 पार…

ग्वालियर में मंगलवार को मिले 1242 नए संक्रमित

मंगलवार को ग्वालियर में कोरोना ब्लास्ट हुआ है। अभी तक के संक्रमित और मौत के सभी आंकड़ों के रिकॉर्ड टूटे हैं। मंगलवार को ग्वालियर में रिकॉर्ड 1242 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जो एक दिन में अभी तक सबसे ज्यादा हैं। इसके साथ ही मंगलवार को 28 संक्रमित की मौत हुई है। इन 28 मौत के बाद ग्वालियर में कुल मौत का आंकड़ा 400 पार कर गया है। हकीकत में यह आंकड़े काफी डराने वाले हैं। लगातार मौत हो रही हैं। पर जिला प्रशासन अपने स्तर पर जिले के अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन और अन्य तरह के इंतजामों में लगा है। लगातार सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है। 

मंगलवार रात को कलेक्टोरेट में रेमडेसिविर इंजेक्शन लेने के लिए भीड़ लगी और सोशल डिस्टेंसिंग टूटी है। कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब पहली लहर पर भी भारी पड़ने लगी है। अप्रैल महीने ने पिछले सभी महीनों के रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं। प्रदेश के महानगरों इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में स्थिति खराब है। ग्वालियर में कोविड संक्रमित के आंकड़े हर दिन के साथ नए रिकॉर्ड बना रहे है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लागू है। कुछ जगह टोटल लॉकडाउन लगाया गया है। जिला प्रशासन और पुलिस सड़कों पर समझाइश के साथ-साथ सख्ती भी बरत रही है। इसके बाद भी कारोना संक्रमित कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। 

मंगलवार को जिले में 1242 नए संक्रमित मिले हैं। इसके बाद कुल संक्रमित का आंकड़ा 29975 हो गया है। इसके साथ ही मंगलवार को 28 संक्रमित की मौत भी हुई है। जिसके बाद मौत का आंकड़ा भी 418 पर पहुंच गया है। कोरोना संक्रमण की यह स्पीड बताती है कि इस समय माहौल कितना खतरनाक हो गया है। हर दिन के साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को 3796 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट आई है, इनमें से 1242 नए संक्रमित निकले हैं। इसके बाद कुल संक्रमित का आंकड़ा 29975 हो गया है। 

बुधवार के लिए 3166 सैंपल भेजे गए हैं। मंगलवार तक कुल एक्टिव केस बढ़कर 7686 हो गए हैं। साथ ही एक सैकड़ा से ज्यादा स्थानों पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए हैं। अभी तक कुल सैंपलिंग 3 लाख 97 हजार 162 हो गई है। संक्रमण की दर लगातार बढ़ती जा रही है। मंगलवार को 28 लोगों की मौत हुई है। जिसके बाद कुल मौत का आंकड़ा 418 पर पहुंच गया है। मंगलवार को राहत की बात यह रही है कि 502 संक्रमित ठीक होकर डिस्चार्ज किए गए हैं। मंगलवार को 28 लोगों की मौत हुई है। जिनका अंतिम संस्कार लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम में कोविड गाइडलाइनके आधार पर किया गया है। 

मंगलवार को 84 वर्षीय प्रेमादेवी, 58 वर्षीय जैतून पत्नी रसूल खान, 72 वर्षीय जायदा बेगम पत्नी नाजिर खान, 68 वर्षीय कृष्णदत्त पाठक पुत्र घनश्याम पाठक निवासी टेकनपुर, अजय खटीक पुत्र रामलाल, 43 वर्षीय उमा वर्मा पत्नी मनोज वर्मा निवासी मुरैना, राजाराम पुत्र ज्याला प्रसाद, 74 वर्षीय अवतार पत्नी संधु सिंह व अन्य की मौत हुई है। यह सभी हाल ही में संक्रमित आए थे। मंगलवार को जिला प्रशासन ने एक वॉटसएप नंबर जारी किया था। 

जिसमें दोपहर 2 बजे तक अस्पताल के अलावा लोगों को अपने लिए कितने रेमडेसिविर इंजेक्शन चाहिए वह डॉक्टर के पर्चे के साथ बताना था। इनको रात को कलेटोरेट से इंजेक्शन बंटने थे। कलेक्टोरेट में रात 9 बजे इंजेक्शन लेने के लिए काफी संख्या में लोग पहुंचे थे। यहां इंजेक्शन पाने के लिए लोग भीड़ में एकत्रित हो गए। इस दौरान कोविड गाइडलाइन का भी उल्लघंन हुआ। लोग मास्क तो पहने थे, लेकिन इंजेक्शन जल्दी पाने के चक्कर में सोशल डिस्टेंसिंग भूल गए। रात 11 बजे तक यह हंगामा चलता रहा। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे और स्थिति को संभाला।