4 बीएमओ सहित टी.बी. आॅफीसर का वेतन काटने के निर्देश…

वैक्सीन वाले दिन कोविड का लक्ष्य पूर्ण नहीं हुआ तो वेतन नहीं दूंगा : कलेक्टर

मुरैना। प्रदेश सरकार की मंशा है कि लोंगो को समय पर शतप्रतिशत कोविड वैक्सीन लगे, इसके लिये प्रत्येक सप्ताह में 4 दिन चिन्हित किये गये है। जिसमें सोमवार, बुधवार, गुरूवार और शनिवार निर्धारित किये है। इन दिनों में जिले से प्रत्येक सीएससी, पीएससी के लिये लक्ष्य निर्धारित किया जायेगा, उस लक्ष्य के अनुसार टीकाकरण उन व्यक्तियों के किया जाये, जो चिन्हित किये जा चुके है। जिस दिन लक्ष्य पूर्ण नहीं होगा, उस दिन का वेतन उस बीएमओ, सीडीपीओ, एएनएम, आशा कार्यकर्ता, सुपरवाइजर, ग्राम पंचायत सचिव, ग्राम रोजगार सहायक को नहीं दिया जायेगा। ये निर्देश कलेक्टर बी.कार्तिकेयन ने नवीन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मुरैना में चल रही कोविड वैक्सीन समीक्षा के दौरान अधिकारियों को दिये। 

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोशन कुमार सिंह, नगर निगम कमिश्नर अमरसत्य गुप्ता, महिला बाल विकास, सीएमएचओ, सिविल सर्जन, सीडीपीओ एवं बीएमओ तथा वर्चुअल काॅन्फ्रेस के माध्यम से जिले के समस्त एसडीएम, सीएमओ एवं जनपद सीईओ जुड़े हुये थे। कलेक्टर बी.कार्तिकेयन ने कोविड वैक्सीन की समीक्षा। समीक्षा के दौरान जिले का वैक्सीनेशन के दिन वाला लक्ष्य पूर्ण नहीं हो पा रहा था। इस पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुये 20 मार्च शनिवार को 29 सेंटरों पर 8 हजार का लक्ष्य प्रदान किया और सोमवार के दिन 10 हजार का लक्ष्य सौंपा है। कलेक्टर ने टीकाकरण लक्ष्य के अनुसार न होने पर उन्होंने बीएमओ पहाडगढ़ क्लेन्द्र यादव का 15 दिवस का वेतन काटने तथा कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि फ्रंट लाइन वाले कर्मचारी जो कोविड में टीकाकरण का कार्य कर रहे है, वे अपने स्वास्थ्य कर्मी है, उन्हीं का दूसरा डोज नहीं लगवा पा रहे है। 

यह मात्र 55 प्रतिशत तक पहुंचा है। यह स्थिति मैं बर्दाश्त नहीं करूंगा। कलेक्टर ने बीएमओ कैलारस की समीक्षा की। जिसमें दूसरा डोज 92 प्रतिशत होना पाया। इस पर कलेक्टर ने कैलारस बीएमओ श्री मिश्रा की एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने बीएमओ जौरा की समीक्षा की। जिसमें दूसरा डोज मात्र 67 प्रतिशत होना पाया। इस पर कलेक्टर ने जौरा बीएमओ मनोज त्यागी को कारण बताओ नोटिस तथा बीएमओ खड़ियाहार द्वारा दूसरे डोज पर 97 लोंगो को वैक्सीन 28 दिन बाद नहीं लगाई गई। इस पर खड़ियाहार बीएमओ जेसी कारखर का एक दिन का वेतन काटने तथा कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। समीक्षा बैठक में टी.बी. आॅफीसर डाॅ. बीएल मौर्य बैठक से सूचना होने के बावजूद भी उपस्थित नहीं हुये। इस पर कलेक्टर ने एक दिन का वेतन काटने, कारण बताओ नोटिस तथा बगैर कलेक्टर की अनुमति के मार्च माह का वेतन जारी नहीं करने के निर्देश दिये। 

समीक्षा में कलेक्टर ने जिले के समस्त सीडीपीओ को निर्देश दिये है कि जिसको जो जिम्मेदारियां दी गई है, वे प्लानिंग के साथ तैयारी करें। जिसमें जिस व्यक्ति को टीकाकरण कराना है, उस व्यक्ति को पहले से ही सूचना कर दी जाये। इसकी सूची समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, एएनएम, पंचायत सचिव एवं सीडीपीओ और ब्लाॅक आॅफीसर पर होनी चाहिये। इसके बाद जिस दिन टीकाकरण होना है, उस दिन संबंधित पंचायतों के पंचायत सचिव उन चिन्हित व्यक्तियों को ट्रेक्टर या अन्य किसी वाहन से केन्द्र तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। सीडीपीओ और बीएमओ की जिम्मेदारी यह होगी कि जो व्यक्ति केन्द्र पर पहुंच रहे है, उन्हें वैक्सीन लग जायें। ऐसा न हो कि वैक्सीन नहीं है या अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद नहीं है। इस प्रकार की गलती पाई गई तो उसकी खैर नहीं होगी।