3000 से अधिक शिकायतों का त्वरित निराकरण...

उपभोक्ताओं को किसी भी हालत में परेशान न होना पड़े : ऊर्जा मंत्री

ग्वालियर। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के ग्वालियर स्थित बंगले में बिजली उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए प्रभावी व्यवस्था की गई है। ऊर्जा मंत्री के कार्यालय द्वारा माह जुलाई 20 से अब तक कुल प्राप्त 3 हजार 200 शिकायतों में से करीब 3 हजार 51 शिकायतों का निराकरण किया गया है एवं शेष शिकायतों का निराकरण प्रक्रियाधीन है। शिकायतें मुख्य तौर पर मीटर रीडिंग, बिलिंग, वोल्टेज एवं नये कनेक्शन आदि से संबंधित हैं। ऊर्जा मंत्री कार्यालय द्वारा शहर संभाग उत्तर अंतर्गत फूलबाग, तानसेन, लधेडी, विनय नगर, बिरला नगर, ट्रांसपोर्ट नगर, केन्द्रीय शहर संभाग अंतर्गत केन्द्रीय संभाग, लक्ष्मीगंज, शिन्दे की छावनी, चावडी, सीएसएस, बाराधाटा, पूर्व शहर संभाग अंतर्गत पूर्व संभाग, ठाटीपुर, मुरार, बारादरी, डी.डी.नगर, सिटी सेन्टर एवं शहर संभाग दक्षिण अंतर्गत दक्षिण संभाग, गोल पहाडिया, कम्पू, सिकन्दर कम्पू आदि स्थानों से प्राप्त शिकायतों का निराकरण किया गया है। 

गौरतलब है कि श्री तोमर ने ग्वालियर स्थित बंगले में कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि उपभोक्ताओं को किसी भी हालत में विद्युत संबंधी समस्या होने पर परेशान न होना पड़े और उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण किया जाए। उन्होंने बताया कि उपभोक्ता सेवा सर्वोपरि है और राज्य शासन उपभोक्ताओं को निर्बाध और गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कृत संकल्पित है। उन्होंने विद्युत उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि विद्युत संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या होने पर वे निकटतम जोन/वितरण केन्द्र जाकर अपनी शिकायतों का निराकरण कराएं साथ ही ग्वालियर स्थित बंगले में पहुँचकर भी अपनी शिकायतों का निराकरण करा सकते हैं। 

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि विद्युत उपभोक्ताओं को निर्बाध गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति एवं बेहतर उपभोक्ता सेवाएं प्रदान करने की दिशा में देश की सभी शासकीय, निजी एवं सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थाओं में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी पहली ऐसी कंपनी बन गई है जिसने कंपनी कार्यक्षेत्र के उपभोक्ताओं को शिकायतें दर्ज कराने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित वाइस बोट की सुविधा उपलब्ध कराई है। यह वाइस बोट अपनी तरह का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित पहला ऐसा वाइस बोट है जिससे कंपनी कार्यक्षेत्र के उपभोक्ता अपनी बिजली आपूर्ति से संबंधित, वितरण ट्रांसफार्मर से संबंधित तथा बिजली बिल से संबंधित सभी प्रकार की शिकायतें काल सेंटर नंबर 1912 पर अप्रत्यक्ष टेलीकॉलर (वॉइस बोट सुविधा) के माध्यम से दर्ज करा सकते हैं। उपभोक्ता कॉल सेन्टर नंबर 1912 पर कॉल लगाकर इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। यह व्यवस्था कंपनी कार्यक्षेत्र के भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों के विद्युत उपभोक्ताओं के लिए लागू कर दी गई है।  

  • शिकायत दर्ज करना आसान और सुविधाजनक।
  • अप्रत्यक्ष टेलीकॉलर के माध्यम से दर्ज होंगी उपभोक्ताओं की शिकायतें।
  • उपभोक्ता को शिकायत दर्ज करने में लगने वाले समय की बचत होगी।
  • टेलीकॉलर के माध्यम से दर्ज होंगी त्रुटि रहित शिकायतें।
  • उपभोक्ता शिकायतों का त्वरित निराकरण सुनिश्चित होगा।
  • उपभोक्ता अपनी शिकायतें क्षेत्रीय बोली में भी दर्ज करा सकेंगे।
  • समानांतर 300 कॉल पर प्रतिक्रिया संभव हो सकेगी।
  • उपभोक्ता संतुष्टि में वृद्धि होगी।