वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद जमकर हो रही है सियासत…

पहले PM मोदी और BJP वाले खुद वैक्सीन लगवाकर दूर करें शंका : श्री शर्मा

देश में कोरोना के दो वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद से जमकर सियासत हो रही है. एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वैक्सीन लेने से इनकार कर दिया और इसकी वजह बताया कि यह बीजेपी की वैक्सीन है. वहीं, दूसरी तरफ बिहार में कांग्रेस विधायक अजीत शर्मा ने भी नया शिगूफा छोड़ दिया है. कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने मांग की है कि जिस तरीके से वैक्सीन को लेकर जनता का भरोसा जीतने के लिए रूस और अमेरिका के राष्ट्रपति ने पहला टीका खुद लिया था, वैसे ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी कोरोना का पहला टीका लेना चाहिए ताकि जनता के बीच इसको लेकर विश्वास बढ़े. 

अजीत शर्मा ने मांग की है कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ बीजेपी के वरिष्ठ नेता भी कोरोना का टीका सबसे पहले लें ताकि लोगों के बीच वैक्सीन को लेकर विश्वास पैदा हो. उन्होंने कहा, “नए साल में दो वैक्सीन आए हैं, यह खुशी की बात है लेकिन इसको लेकर लोगों के बीच संशय भी है.  इस संशय को दूर करने के लिए जिस तरीके से रूस और अमेरिका के राष्ट्राध्यक्ष ने पहला टीका लेकर लोगों को विश्वास में लिया है, मेरा मानना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के सबसे वरिष्ठ नेता को पहला टीका लेकर लोगों का विश्वास जीतना चाहिए”. 

अजीत शर्मा ने बीजेपी पर हमला करते हुए यह आरोप लगाया कि देश में आई वैक्सीन का श्रेय बीजेपी लेने की कोशिश कर रही है. अजीत शर्मा ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक, जिन दो कंपनियों ने कोरोना का वैक्सीन तैयार कर लिया है, दरअसल ये दोनों कंपनियां कांग्रेस के जमाने में ही स्थापित हुई थी. अजीत शर्मा ने कहा, “वैक्सीन आने के बाद बीजेपी हर तरफ थाली पिटवा रही है और खुशी मना रही है, लेकिन कांग्रेस को भी श्रेय मिलना चाहिए क्योंकि कांग्रेस के ही कार्यकाल में ये दोनों कंपनियां स्थापित हुई थीं.”