कलेक्टर ने गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों को लेकर बैठक ली...

हर्षोल्लास एवं गरिमामय ढंग से मनेगा भारतीय गरिमा का शीर्ष उत्सव : श्री सिंह

ग्वालियर। भारतीय गरिमा के शीर्ष उत्सव गणतंत्र दिवस की वर्षगाँठ सम्पूर्ण देश की भाँति ग्वालियर जिले में भी परंपरागत ढ़ंग से उत्साह, उमंग एवं हर्षोल्लास के साथ मनाई जायेगी। गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मुख्य समारोह कम्पू स्थित एस ए एफ ग्राउण्ड पर आयोजित होगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मुख्य समारोह की तैयारियों के सिलसिले में सोमवार को बैठक लेकर विभिन्न अधिकारियों को तमाम व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौंपी। गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में मुख्य अतिथि संयुक्त परेड की सलामी लेंगे और प्रदेश की जनता के नाम मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन करेंगे। 

इस अवसर पर आकर्षक विभागीय झांकिया भी निकलेंगीं। बैठक में जानकारी दी गई कि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से इस बार मुख्य समारोह में स्कूली बच्चे शामिल नहीं होंगे। साथ ही स्कूली बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी नहीं होगा। कोविड-19 को ध्यान में रखकर राज्य शासन द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के तहत संयुक्त परेड में इस बार एनसीसी, स्काउट – गाइड एवं शौर्या दल की टुकड़ी शामिल नहीं रहेंगीं। 

गणतंत्र दिवस पर इस बार स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों एवं कारगल शहीदों की विधवा वीरांगनाओं का सम्मान उनके घर पर ही किया जायेगा। वैश्विक महामारी कोरोना को ध्यान में रखकर इस आशय का निर्णय लिया गया है। गणतंत्र दिवस को एसएएफ ग्राउण्ड पर आयोजित होने वाले जिले के मुख्य समारोह में कोविड की वजह से इस बार पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित नहीं होगा। विभिन्न विभागो के उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय सेवकों को उनके कार्यालय में ही सम्मानपूर्वक प्रशस्ति पत्र पहुँचाए जायेंगे। 

कलेक्टर श्री सिंह ने सभी विभागों के अधिकारियों से 23 जनवरी तक शासकीय सेवकों के नाम कलेक्ट्रेट भेजने के लिये कहा है। उन्होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन एवं कोरोना नियंत्रण की ड्यूटी में बतौर कोरोना वॉरियर्स कार्यरत रहे शासकीय सेवकों को इस बार विशेष तौर पर सम्मानित किया जायेगा। साथ ही हाल ही में हुए उपचुनाव के दौरान मतदान प्रतिशत बढ़ाने में योगदान देने वाले शासकीय सेवकों को भी प्रशस्ति पत्र दिए जायेंगे।