इकोनॉमी-किसान-जवान सभी मुद्दों पर बोले...

तिरंगे के अपमान पर राष्ट्रपति श्री कोविंद ने जताई चिंता

आज से बजट सत्र शुरू हो रहा है. एक फरवरी को संसद में वित्त वर्ष 2021-22 का आम बजट पेश किया जाएगा. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बजट सत्र से पहले अपना भाषण दिया. उन्होंने कहा देशभर में फैली महामारी के बीच यह बजट काफी महत्वपूर्ण है. साथ ही उन्होंने देश के जवानों-किसानों और अपने सरकार द्वारा किए गए लाभकारी योजनाओं का जिक्र किया. राष्ट्रपति ने दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुए हिंसा और तिरंगे के अपमान पर चिंता जताई और कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी सबको है लेकिन इसकी भी एक सीमा होती है. इसके साथ ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया.

राष्ट्रपति के भाषण में कुछ जरूरी बातें-

  • ● उन्होंने कहा देश की गरीब महिलाओं के खाते में 31 हजार करोड़ रुपए जनधन खातों में सीधे ट्रांसफर भी किए गए. इस दौरान देशभर में उज्ज्वला योजना की लाभार्थी गरीब महिलाओं को 14 करोड़ से अधिक मुफ्त गैस सिलेंडर भी मिले.
  • ● इसके अलावा हमारी सरकार ने महिलाओं को स्वरोज़गार बनाने के लिए मुद्रा योजना के तहत 25 करोड़ से ज्यादा का ऋण दिया है, जिसमें लगभग 70 प्रतिशत ऋण महिला उद्यमियों को मिले हैं.
  • ● साल 2020 दिसंबर में UPI से 4 लाख करोड़ रुपए से भी अधिक का डिजिटल पेमेंट हुआ है. आज देश के 200 से ज्यादा बैंक UPI व्यवस्था से जुड़े हैं.
  • ● उन्होंने कहा मैन्युफैक्चरिंग से जुड़े 10 सेक्टर्स के लिए पहली बार देश में लगभग डेढ़ लाख करोड़ रुपए की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम लागू की गई है. इसका लाभ इलेक्ट्रॉनिक्स सहित अनेक दूसरे सामान की मैन्युफैक्चरिंग में दिखने भी लगा है.
  • ● राष्ट्रपति ने कहा कि फेसलेस टैक्स असेसमेंट और अपील की सुविधा देने के साथ ही मेरी सरकार ने देश में उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने के लिए कंपनी अधिनियम के अनेक प्रावधानों को गैर-आपराधिक बना दिया है.
  • ● केंद्र सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी विशेष ध्यान दे रही है. इसके लिए एक लाख करोड़ रुपए के एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड की शुरुआत की गई है.
  • ● आज के समय में आप 24 हजार से ज्यादा अस्पतालों में आयुष्मान योजना का फायदा ले सकते हैं. जन-औषधि योजना के तहत देश भर में बने 7 हजार केंद्रों से गरीबों को सस्ते में दवाइयां मिल रही हैं.
  • ● देश को Gas Based Economy बनाने के लिए गैस कनेक्टिविटी पर भी तेज गति से काम किया जा रहा है.
  • ● कोरोना के इस समय में देश की अर्थव्यवस्था रिकवरी कर रही है. इस मुश्किल समय में भी भारत दुनिया के निवेशकों के लिए आकर्षक स्थान बनकर उभरा है.