बंगाल में भाजपा नेताओं पर हमले का विरोध…

भाजपियों ने पुतला फूंककर की ममता सरकार को बर्खास्त करने की मांग

ग्वालियर। पश्चिम बंगाल के डायमंड हार्बर में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित वरिष्ठ भाजपा नेताओं के काफिले पर टीएमसी के गुंडों द्वारा किए प्राणघातक हमले को लेकर जिलेभर में आक्रोश है। जिले के भाजपा कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने उक्त कायराना हमले की कड़ी निंदा की है। बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पुतला फूंककर विरोध दर्ज कराया है। पश्चिम बंगाल में बढ़ती हिंसक घटनाओं को लेकर ममता सरकार को बर्खास्त करने की मांग की गई है। 

भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि भाजपा नेताओं पर हुए पथराव की यह घटना पश्चिम बंगाल सरकार के इशारे पर की गयी कायराना हरकत है। जिस प्रकार से ममता बनर्जी की जमीन खिसक रही है और टीएमसी का अस्तित्व खत्म होने की कगार पर है, इससे बौखलाकर ममता बनर्जी सरकार इस प्रकार की ओछी राजनीति कर रही है। ममता बनर्जी बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के प्रभाव से बुरी तरह घबरा गई हैं। इस दौरान पूर्व साडा अध्यक्ष राकेश जादौन ने कहा टीएमसी और ममता सरकार के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं की आवाज मध्यप्रदेश से लेकर बंगाल तक जाएगी। भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पश्चिम बंगाल की जनता ममता बनर्जी को इसका कड़ा जवाब देगी।

भाजपा दीनदयाल मंडल द्वारा केआरजी चैराहे पर, शहीद भगत सिंह मंडल द्वारा सब्जी मंडी चैराहे पर, कोटेश्वर मंडल द्वारा बहोड़ापुर चैराहे पर, वीर सावरकर मंडल द्वारा इंदरगंज चैराहे पर, हेमू कालानी मंडल द्वारा जिला कार्यालय मुखर्जी भवन पर, स्वामी विवेकानंद मंडल द्वारा राम मंदिर चैराहे पर, वीर दुर्गादास मंडल द्वारा हजीरा चैराहे पर, रानी लक्ष्मीबाई मंडल द्वारा किलागेट पर चैराहे पर तथा स्वामी रामकृष्ण मंडल द्वारा थाटीपुर चैराहे पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पुतला फूंका गया।