कलेक्टर ने परियोजना कार्य मार्च तक पूर्ण करने के दिये निर्देश…

दतहरा समूह जल प्रदाय योजना का श्री वर्मा ने किया अवलोकन

मुरैना। मुरैना जिले के कोतवाल बांध पर 22 गांवों के लिये ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना दतहरा का कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बुधवार को औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ग्रीष्म ऋतु को ध्यान में रखते हुये दतहरा ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना को 31 मार्च 2021 तक पूर्ण करें, जिससे इन गांवों में निवासरत लोंगो को पर्याप्त पीने का पानी मिल सके। कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा है कि 22 गांवों के लिये 107 किलोमीटर लम्बी पाइप लाइन डालने के निर्देश है, जिसमें अभी मात्र 80 किलोमीटर पाइप लाईन डाली जा चुकी है। इस कार्य को प्राथमिकता के साथ पूर्ण करें। 

उन्होंने कहा कि पाइप डालते समय यह भी ध्यान रखा जाये कि पाइप लाइन मुख्य सड़कों से हटकर थोड़ी दूरी पर डाली जाये, क्योंकि वाहनों के दबाब से पाइप लाइन टूटने या लीकेज होने का खतरा रहेगा। जिससे पानी बेस्टेज तो होगा, साथ ही सड़कों की क्वालिटी भी डेेमेज होगी। उन्होंने महाप्रबंधक से पूछा कि कुल 22 गांवों में कितने कनेक्शन दिये जायेंगे और इस परियोजना का मेन्टीनेश का कार्य की समयावधि कितनी रहेगी। इस पर मध्यप्रदेश जल निगम मर्यादित परियोजना क्रियान्वयन इकाई ग्वालियर के महाप्रबंधक अनंत शर्मा ने बताया कि साढ़े 5 हजार नल कनेक्शन घरों में दिये जायेंगे तथा इस परियोजना का मेन्टीनेश का कार्य 10 वर्ष तक किया जायेगा। 

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने निरीक्षण के दौरान निर्देश दिये कि 2995 लाख रूपये की लागत से दतहरा समूह जल प्रदाय योजना वर्ष 2018 में स्वीकृत की गई थी, इस कार्य को मार्च 2020 तक पूर्ण करना था, किन्तु इस कार्य में कोविड-19 के कारण विलंब जरूर हुआ है, अब इस कार्य को प्राथमिकता के साथ 31 मार्च 2021 तक पूर्ण करें। जिससे 22 गांवों के लोंगो को पर्याप्त मात्रा में पेयजल मुहैया कराया जा सके। कलेक्टर श्री वर्मा ने बताया कि दतहरा समूह जल प्रदाय योजना में जल को शुद्धिकरण संयत्र 5.75 एमएलडी, एमबीआर क्षमता 400 कि.ली., ऊंचाई 28 मीटर, उच्च स्तरीय 12 टंकियां बनाई जायेंगी। जिनकी क्षमता 125 कि.ली. से 425 कि.ली. तक रहेगी। उन्होंने बताया कि नये जोड़ने वाले गांव नाका और होराई का पुरा को भी शामिल किया गया है।