जनपदों के अधिकारियों को दिये निर्देश…

संबल योजना में श्रमिकों के सत्यापन में तेजी लायें अधिकारी : कलेक्टर 

मुरैना। कलेक्टर अनुराग वर्मा ने नगरीय निकाय एवं जनपदों के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि संबल योजना के तहत स्थानीय निकायवार श्रमिकोें के भौतिक सत्यापन में अधिकारी तेजी जायें। जिले में संबल योजना के तहत 9 दिसम्बर तक 9 हजार 242 का लक्ष्य लंबित है। जिसमें 3 दिवस में 228 की प्रगति दिखाई है। 

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बताया कि जनपद पंचायत मुरैना में 2 हजार 469, जनपद पंचायत में 1 हजार 970, जनपद पंचायत पहाडगढ़ में 1 हजार 724, जनपद पंचायत जौरा में 1 हजार 604, नगर परिषद झुण्डपुरा में 491, नगर पंचायत जौरा में 404, जनपद पंचायत पोरसा मेें 245, जनपद पंचायत सबलगढ़ में 163, जनपद पंचायत कैलारस में 137, नगर पालिका पोरसा में 23, नगर पालिका सबलगढ़ में 12 प्रकरण भौतिक सत्यापन के लिये अभी भी लंबित है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि संबल योजना में पात्र हितग्राहियों के भौतिक सत्यापन में विलंब नहीं होना चाहिये। 

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना के अन्तर्गत पंजीकृत श्रमिक की मृत्यु की दशा में अनुग्रह सहायता (दो लाख रूपये, सामान्य मृत्यु/चार लाख रूपये) दुर्घटना मृत्यु प्रदान किये जाने का प्रावधान है। पंजीकृत श्रमिक की मृत्यु की दशा में उत्तराधिकारी द्वारा संबंधित जनपद पंचायत/नगर पालिका में 90 दिवस केे अंदर आवेदन दिया जाना होता है।