पुलिस बल के साथ…

जड़ेरूआ बांध पर एसडीएम ने मुक्त कराई करोड़ों की सरकारी जमीन

ग्वालियर। मुरार के जडेरूआ स्थित सरकारी जमीन का अपनी बताकर प्लॉट काट दिये और यहीं नहीं, भवन खड़ा कर स्कूल के लिये किराये पर दे दिया। हर माह स्कूल से डेढ़ लाख रूपये किराया वसूला जा रहा था। लेकिन रविवार की दोपहर 3 बजे एंटी माफिया अभियान के तहत जड़ेरूआ बांध पर यह सब जेसीबी से ढहा दिया गया। जिला प्रशासन, नगरनिगम और पुलिस की संयुक्त की कार्यवाही में लगभग 4 बीघा जमीन माफिया से मुक्त कराई गयी। इस जमीन की कीमत करोड़ों में बताई जा रही है। जमीन पर प्रॉपर्टी व्यापारी विनोद कुशवाह का कब्जा था। 

रविवार की दोपहर एंटी माफिया अभियान के तहत मुरार के जड़ेरूआ बंधा, आदित्यपुरम के बीपी सिटी के पास प्रॉपर्टी कारोबारी विनोद कुशवाह की जमीन व अन्य अवैध निर्माण पर कार्यवाही होना थी। विनोद पर 3 मामले भी दर्ज थे। जिला प्रशासन को आशंका थी कि यहां पर हंगामा हो सकता है। इसलिये सुबह टीम मुरार में एकत्रित हुई । पुलिस बल मिलने के बाद दोपहर 3 बजे जड़ेरूआ बंधा पहुंची। यहां पुलिस ने विनोद के सरकारी जगह पर बनाये भवन को ध्वस्त कर दिया। इस भवन में विद्यालय हाईस्कूल नाम से स्कूल संचालित किया जा रहा था। 

स्कूल के संचालक से माह का डेढ़ लाख रूपये तक किराया मिलता था और इसके अलावा सरकारी जमीन पर प्लॉट भी काट चुका था। प्लॉट के आसपास सड़क भी खोद दी। कार्यवाही एसडीएम पुष्पा पुषाम, तहसीलदार नरेश गुप्ता, आरआई और पटवारी, सीएसपी एनआर पचौरी, टीआई मिर्जा आसिफ टीआई मुरार अजय पंवार इस बीच भी मौके पर मौजूद थे। जिला प्रशासन ने यहां से 4 बीघा से अधिक जमीन खाली कराई है। खास है कि जमीन को प्रशासन ने सरकारी जमीन होने का दावा करता है जबकि विनोद कुशवाह इसे अपनी बताता रहा और साथ ही आदित्यपुरम में भी आधा बीघा के लगभग जगह जमीन मुक्त कराई गयी।