सोनीपत बैरिकेडिंग तोड़ किसान आगे रवाना हुए…

किसान बिल के खिलाफ किसानों का हल्ला बोल जारी

किसान बिल के खिलाफ पंजाब-हरियाणा के किसानों का हल्ला बोल जारी है. किसान दिल्ली बॉर्डर जमे हैं और सरकार की टेंशन बढ़ी हुई है. किसानों के दिल्ली कूच को रोकने के लिए तैयारी भी भरपूर है. दिल्ली की सभी सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. सिंघु बॉर्डर पर किसान पहुंचने लगे हैं. आज सुबह सोनीपत बैरिकेडिंग तोड़ किसान आगे रवाना हुए. 30-40 किसान सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे. सिंघु बॉर्डर पर आज डबल बैरिकेडिंग है. इसी बीच, पंजाब-हरियाणा के किसानों के साथ भारतीय किसान यूनियन भी प्रदर्शन करेगी. यूपी में सभी नेशनल हाईवे पर चक्का जाम का ऐलान किया गया है. एमएसपी का कानून बनाने की मांग की गई है.

किसानों के प्रदर्शन को रोकने के लिए सिंधु बॉर्डर पर कंटीले तार लगाकर बैरिकेडिंग की गई है. दिल्ली पुलिस ने इस बॉर्डर को सील करके वहां पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर रखा है. दिल्ली से हरियाणा और हरियाणा से दिल्ली जाने से रोकने के लिए दोनों तरफ के रास्ते बंद कर दिए गए हैं. वहीं केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों के विरोध को लेकर हजारों की संख्या में पंजाब और हरियाणा के किसान अपने-अपने क्षेत्र से निकलकर लगातार दिल्ली की और बढ़ रहे हैं. दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन आज और बड़ा रूप ले सकता है. ऐसे में दिल्ली के लोगों की मुश्किल बढ़नी आज फिर तय नजर आ रही है. 

दिल्ली में मेट्रो सेवा पर भी किसानों के आंदोलन का असर दिखाई देगा. DMRC ने सूचना जारी कर ये कहा है कि कोई भी मेट्रो दिल्ली की सीमा के बाहर नहीं जाएगी. मेट्रो की सभी सेवाएं दिल्ली के अंदर आने वाले स्टेशनों पर ही बहाल रहेंगी. ऐसे में दिल्ली-एनसीआर के लोगों को एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए ऑटो-टैक्सी, बस या निजी वाहनों पर निर्भर रहना पड़ सकता है. माना जा रहा है कि किसान आंदोलन के चलते आज भी सिंधु बॉर्डर और गुरुग्राम बॉर्डर पर जाम की स्थिति बन रह सकती है. ऐसे में लोग इन रास्तों से बचकर निकलें तो उनके लिए ठीक रहेगा.