रिपोर्ट पर भाजपा-कांग्रेस में तू-तू मैं-मैं…

SSR Case में एम्स ने खारिज की हत्या की थ्योरी

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या करने की एम्स की रिपोर्ट आने के एक दिन बाद महाराष्ट्र में विपक्षी भारतीय जनता पार्टी और उद्धव ठाकरे सरकार में सहयोगी सत्तारूढ़ कांग्रेस में रविवार को जुबानी जंग शुरू हो गई. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राम कदम ने शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-कांग्रेस के महागठबंधन सरकार को निशाना बनाते हुए आरोप लगाया कि सुशांत की 'हत्या के रहस्य' में ड्रग एंगल जांच को नजरअंदाज कर दिया गया. हालांकि, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा, "औंधे मुंह गिरने के बाद भी भाजपा अपने पैर हवा में रखने की कोशिश कर रही है. उनके चेहरे पर कालिख पुत गई है. 

लेकिन वे अपने हाथ साफ दिखाने की कोशिश कर रहे हैं." सावंत ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने एनसीबी को राज्य भाजपा के 'ड्रग्स लिंक' की जांच करने के लिए लिखा है, और क्यों ससंदीप सिंह नाम के व्यक्ति ने 53 बार भाजपा कार्यालय में फोन किया था. सावंत ने कहा, "ड्रग्स की जांच और सुशांत की मौत के बीच में कोई संबंध नहीं है. बीजेपी इसमें पूरी तरह से बेनकाब हो गई है, क्योंकि राज्य सरकार ने एनसीबी को बीजेपी के ड्रग-कनेक्शनों की जांच और खुलासा करने के लिए लिखा है. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने पांच साल तक इस बारे में क्यों कुछ नहीं किया?" 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गृहमंत्री अनिल देशमुख को लिखे पत्र में, कदम ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (बीएनसी) की जांच को लेकर कहा, अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती सहित 20 व्यक्तियों को अब तक गिरफ्तार किया गया है. कदम ने कहा, "एनसीबी ने बॉलीवुड-ड्रग कार्टेल नेक्सस को बेनकाब करने के लिए बड़े पैमाने पर कार्रवाई शुरू की है. बॉलीवुड के साथ यह ड्रग लिंक स्वर्गीय सुशांत की हत्या के रहस्य में महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है." उन्होंने महाराष्ट्र सरकार से इसकी विफलता के लिए 'कम से कम पूरी जिम्मेदारी' लेने और बॉलीवुड-ड्रग चेन के रहस्य को उजागर करने की अनुमति देने का आह्वान किया.