कमलनाथ को बताया कृष्ण और CM को शकुनि मामा…

भूखे नंगों के बाद अब चुन्नू-मुन्नू तक पहुंची MP की सियासत

मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव में अब महज 20 दिन से भी कम वक्त रह गया है. इसीलिए सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इस जोरआजमाइश में नेता  एक दूसरे पर चुटकीले तंज कस रहे हैं. कभी साधु-संत बता रहे हैं, तो कभी कृष्ण और शकुनि मामा. अब इस जुबानी जंग में बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी कूद पड़े हैं. उन्होंने तो कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की जोड़ी को चुन्नू-मुन्नू  तक बता दिया. 

दरअसल बुधवार को बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय अशोकनगर के स्थानीय तुलसी पार्क चौराहे पर  बीजेपी की सभा को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कमलनाथ और दिग्विजय सिंह  की जोड़ी पर चुटकी ली. उन्होंने कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह चुन्नू-मुन्नू की तरह हैं. वहीं सिंधिया के बिकने बाली बात पर उन्होंने कहा कि जिस घर में रहते हैं  सिंधिया उस की कीमत कमलनाथ और दिज्विजिय सिंह की कुल सम्पत्ति से ज्यादा है.

आपको बता दें कि मंगलवार को कृषि मंत्री कमल पटेल ने चुनावी जंग के बीच फिल्मी सियासत की शुरुआत की थी. उन्होंने शिवराज सिंह चौहान को असली हीरो बताया था, तो वहीं कमलनाथ को विलेन,खलनायक करार दिया था. साथ ही ये सलाह भी दी थी कि उन्हें मुंबई जाकर खलनायक का रोल करना चाहिए. उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान ओरिजनल हीरो हैं,ये सभी पर्दे के हीरो हैं,कमलनाथ प्रदेश के लिए कंलक हैं.उन्होंने तो हमेशा प्रदेश के लिए विलेन का काम किया है. 

इससे पहले कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कमलनाथ को कृष्ण बताया था. उन्होंने कहा था कि k फ़ॉर कमलनाथ, K फ़ॉर कृष्ण. इतना ही नहीं महाभारत का उदाहरण देते हुए पीसी शर्मा ने मुख्यमंत्री को सकुनी मामा तक बता दिया. वहीं कांग्रेस के इस वार पर बीजेपी ने भी पलटवार किया था. सत्तारूढ़ पार्टी के प्रवक्ता रजनीश ने कहा कि क से कुशासन,क से काइयांपन, क से कांग्रेस, क से कोरोना...जनता सब जानती है कौन हितैषी है.

आपको बता दें की बीते कुछ दिनों पहले कांग्रेस नेता दिनेश गुर्जर ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भूमि अधिग्रहण करने का आरोप लगाया था और मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा था कि मान लीजिए कमलनाथ दूसरे बड़े उद्योगपति हैं, वो शिवराज सिंह चौहान की तरह भूखे नंगे नहीं हैं। शिवराज ने किसानों के खून पीने का काम किया, इसलिए आज इतनी जमीन के मालिक हैं। इस पर सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार करते हुए कहा था कि हां, मैं भूखे-नंगे परिवार से हूं, इसलिए उनका दुख-दर्द समझता हूं। शिवराज ने ट्वीट कर दिनेश गुर्जर की बात का जवाब दिया था ।