श्री सक्सेना ने नोडल अधिकारियों की ली बैठक…

मतदान केंद्रों पर मतदाताओं के लिये बेहतर व्यवस्थायें की जाएँ : संभागायुक्त

ग्वालियर। मतदाताओं को बेहतर से बेहतर सुविधायें मुहैया कराने के लिये मतदान दल की तर्ज पर कर्मचारियों की जवाबदेही निर्धारित करें। ड्यूटी आदेश में यह स्पष्ट हो कि कौन सा कर्मचारी सेनेटाइजर व हाथ धुलवाने, कौन सा कर्मचारी थर्मल स्क्रीनिंग, कौन सा कर्मचारी मास्क व हैण्ड ग्लब्स वितरण तथा कौन सा कर्मचारी मतदाता को टोकन वितरित करेगा। इस आशय के निर्देश संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने नोडल अधिकारियों की बैठक में दिए। उन्होंने कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह की मौजूदगी में नोडल अधिकारियों की बैठक लेकर विधानसभा उप चुनाव के लिये की गई तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की। 

शनिवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में संभाग आयुक्त श्री सक्सेना ने निर्देश दिए कि हर मतदान केन्द्र पर मतदाताओं के बैठने से लेकर उनके लिये छाया व पेयजल की पुख्ता व्यवस्था की जाए। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए कि निगम के अमले के माध्यम से शहरी क्षेत्र के मतदान केन्द्रों में यह व्यवस्थायें मुकम्मल कराई जाएं। कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिये सभी सुरक्षा मानकों का पूर्णत: पालन करने पर भी उन्होंने विशेष बल दिया। साथ ही यह भी कहा कि शतप्रतिशत दिव्यांग मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें, इसके लिये दिव्यांग मित्र बनाए जाएँ। 

संभाग आयुक्त श्री सक्सेना ने मतदान दलों सहित चुनाव ड्यूटी में लगे अन्य अधिकारी-कर्मचारियों के खातों में समय पर मानदेय पहुँचाने की हिदायत भी बैठक में दी। साथ ही कहा इसी तरह मतदान दलों के आवागमन के लिये अधिग्रहीत किए गए वाहनों का पीओएल इत्यादि का भुगतान भी समय पर कर दिया जाए। स्वीप (सिस्टमेटिक वोटर्स एज्यूकेशन एण्ड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन) के तहत चलाए जा रहे मतदाता जागरूकता अभियान की भी बैठक में संभाग आयुक्त ने समीक्षा की। उन्होंने कहा इस अभियान के सार्थक परिणाम सामने आना चाहिए। प्रयास ऐसे हों, जिससे अधिक से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करने पहुँचें। 

संभाग आयुक्त ने कहा कि हर घर में मतदान की तिथि का प्रचार-प्रसार करने के लिये आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं अन्य मैदानी अमले के माध्यम से स्टीकर लगवाए जाएँ। श्री सक्सेना ने यह भी हिदायत दी कि भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पूर्णत: पालन करते हुए पोस्टल बैलेट डलवाने की कार्रवाई की जाए। बैठक में इसके अलावा मतदान सामग्री का वितरण एवं वापसी सहित अन्य चुनावी व्यवस्थाओं की समीक्षा भी संभाग आयुक्त द्वारा की गई। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में जानकारी दी कि मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिये स्वीप के तहत जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में विशेष रणनीति बनाकर मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें मैदानी अमले के माध्यम से गृह भेंट भी शामिल है।