बिहार बीजेपी ने छपवाया स्टीकर- ना भूले हैं...ना भूलने देंगे…

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत बनी चुनावी मुद्दा !

बिहार चुनाव में सुशांत सिंह राजपूत केस का मुद्दा हावी रहने वाला है. भारतीय जनता पार्टी में कला संस्कृति प्रकोष्ठ के बिहार संयोजक वरुण कुमार सिंह ने सुशांत सिंह की तस्वीर साझा करते हुए कहा है कि ना भूले हैं, ना भूलने देंगे. तस्वीर के ऊपर जस्टिस फॉर सुशांत लिखा है. वरुण कुमार सिंह का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए वो पिछले 16 जून से ही अभियान चला रहे हैं. उन्होंने आगे बताया कि 14 जून की घटना के बाद से सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए उनके अलावा करणी सेना ने भी स्टीकर और मास्क बनाकर लोगों को बांटा है. 

वरुण कुमार सिंह ने इस मौके पर एक पोस्टर जारी किया है. जिसमें दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मुस्कुराती हुई फोटो लगी है. फोटो के ऊपर जस्टिस फॉर सुशांत लिखा है और नीचे लिखा है- ना भूले हैं, ना भूलने देंगे. इस फोटो पर बीजेपी का चुनाव चिन्ह कमल का भी निशान है, जिसके नीचे लिखा है कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ, भाजपा, बिहार प्रदेश. लांकि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि बीजेपी सुशांत सिंह राजपूत मामले की निष्पक्ष जांच चाहती थी. 

CBI अब इस मामले की जांच कर रही है, फिर इसे चुनावी मुद्दा बनाने का क्या मतलब है. बता दें, सुशांत राजपूत के मामले में सीबीआई की जांच चल रही है. शुक्रवार को ड्रग्स कनेक्शन को लेकर NCB ने बड़ी कार्रवाई करते हुए रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक और सैमुअल मिरांडा को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद शनिवार को किला कोर्ट ने दोनों को 9 सितम्बर तक कस्टडी में रखने का आदेश दिया है. सुशांत के करीबियों से पूछताछ जारी है. 

रिया चक्रवर्ती इस केस में मुख्य आरोपी हैं. रिया, ड्रग्स मामले में पूछताछ के लिए NCB के सामने रविवार को पेश होंगी. शनिवार को सीबीआई की टीम सुशांत के बांद्रा वाले घर पहुंची थी. उस दौरान एम्स के डॉक्टरों की टीम और सुशांत की बहन मीतू भी मौजूद थीं. कुछ समय बाद सीबीआई की टीम वहां से निकल गई. सीबीआई टीम के साथ जब सुशांत सिंह की बहन मीतू सिंह सुशांत के घर पहुंची थीं तो सिद्धार्थ पिठानी, नीरज भी उनके साथ मौजूद थे. सीबीआई की टीम सुशांत के घर क्राइम सीन री-क्रिएट करने पहुंची थी, ताकि उस दिन क्या वास्तव में क्या हुआ था, इसका पता लगाया जा सके.