न्याययात्रा निकालकर उर्जामंत्री को सौंपा ज्ञापन…

पत्रकारों की मांगों का शीघ्र होगा निराकरण : तोमर

ग्वालियर। प्रदेश के उर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि मामा माणिकचंद वाजपेयी पत्रकार कॉलोनी के विवादित अवधि के लीजरेंट का शीघ्र ही निराकरण किया जाएगा। इस संबंध में वे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि पत्रकारों की अन्य मांगों पर भी विचार किया जा रहा है। तोमर ने यह बात रेसकोर्स रोड स्थित बंगले पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पत्रकारों की समस्याओं से वे वाकिफ हैं, उन्होंने इन मांगों को लेकर अपने पदवेश त्यागने वाले वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रवेश पांडे से कहा कि वे पदवेश धारण करें।

इस पर पांडे ने कहा कि मांग पूरी होने पर ही वे पदवेश धारण करेंगे। पत्रकारों ने मंत्री तोमर से कहा कि यह अत्यंत दुखद है कि पिछले 12 साल से जिस जमीन पर उन्हें कब्जा नहीं मिला और जो न्यायालय में विवादित रही उस अवधि का उनसे लीजरेंट मांगा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस समस्या का जल्दी से जल्दी निराकरण किया जाए। इससे पहले सभी पत्रकार प्रेस क्लब फूलबाग पर एकत्रित हुए यहां से वे स्टेशन बजरिया पहुंचे। 

स्टेशन बजरिया से उन्होंने न्याययात्रा प्रारंभ की। इस दौरान प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश शर्मा ,  वरिष्ठ पत्रकार सुरेश सम्राट, राजेन्द्र तलेगांवकर,प्रदीप तोमर ,  गुरू शरण सिंह , सुरेन्द्र माथुर, जोगेन्द्र सेन, रमन पोपली ,दिनेश राव ,  अशोक पाल, जावेद खान,  राजलखन, बृजमोहन शर्मा, गोपाल त्यागी, रवि उपाध्याय, विक्रम प्रजापति, छोटू जायसवाल, रमन शर्मा, सुनील पाठक, विनोद शर्मा, नासिर गौरी, प्रमोद शर्मा आनंद त्रिवेदी , आदि उपस्थित थे। 

सभी पत्रकार नारे लगाते हुए प्रद्युम्न सिंह तोमर के बंगले पर पहुंचे यहां पर उन्होंने मंत्री के समक्ष अपनी मांगे रखी और उन्हें ज्ञापन सौंपा। प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश शर्मा सहित सभी पत्रकार साथियों ने पत्रकारों की बीमा राशि को लेकर मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि  मुख्यमंत्री हमारी लीजरेंट की मांग को भी तत्काल स्वीकार करें। पत्रकारों ने कहा कि उनकी यह न्याययात्रा तब तक जारी रहेगी जब तक की उनकी मांमग पूरी नहीं की जाती है।