BJP को झटका…

शिरोमणि अकाली दल ने NDA से तोड़ा 23 साल पुराना रिश्ता


चंडीगढ़। किसान बिल पर विरोध और नाराजगी के चलते शिरोमणि अकाली दल ने NDA से 23 साल पुराना गठबंधन तोड़ दिया है. शनिवार शाम चार घंटे तक चली मीटिंग के बाद पार्टी की कोर कमेटी ने ये बड़ा फैसला लिया है. इससे पहले पार्टी की नेता हरसिमरत कौर मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे चुकी हैं. शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कृषि विधेयकों के विरोध में शनिवार रात को बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग होने की घोषणा की. 

पार्टी की कोर समिति की बैठक के बाद उन्होंने यह घोषणा की. सुखबीर ने कहा, ‘‘शिरोमणि अकाली दल की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई कोर समिति की आपात बैठक में भाजपा नीत राजग से अलग होने का फैसला सर्वसम्मति से लिया गया.’’ इससे पहले राजग के दो अन्य प्रमुख सहयोगी दल शिवसेना और तेलुगु देशम पार्टी भी अन्य मुद्दों पर गठबंधन से अलग हो चुके हैं. बता दें कि पंजाब में किसान बिल की मुखालफत जोरों से चल रही है. 

वहीं गठबंधन तोड़ने के औपचारिक ऐलान के बाद हरसिमरत कौर बादल ने ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यदि तीन करोड़ पंजाबियों की पीड़ा और विरोध के बावजूद भारत सरकार का दिल नहीं पसीज रहा तो ये वो एनडीए नहीं है जिसकी कल्पना अटल बिहारी वाजपेयी और प्रकाश सिंह बादल ने की थी. ऐसा गठबंधन जो अपने सबसे पुराने सहयोगी की बात नहीं सुनता और पूरे देश का पेट भरने वाले वालों से नजरें फेर लेता है तो ऐसा गठबंधन पंजाब के हित में नहीं है.