सिंधिया का चेहरा दिखाकर बनाई थी सरकार…

15 महीने का लेखा-जोखा खोल दिया तो कमलनाथ जेल में होंगे : श्री तोमर

उपचुनाव से पहले मध्य प्रदेश की सियासत में आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है। शिवराज सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को लेकर बड़ा बयान दिया है। मंत्री तोमर का कहना है कि कमलनाथ के 15 महीने का लेखा जोखा खोल दिया गया तो वो जेल में होंगे। बुधवार को ग्वालियर में मीडिया से बातचीत में चर्चा में मंत्री तोमर ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर हमला बोला।

प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का चेहरा दिखाकर कांग्रेस ने सरकार बनाई थी, 'जिस तरह लड़की की शादी होती है, तो कहते हैं न अच्छा सा लड़का दिखाओ और जब वरमाला का वक्त आया तो 70 साल का…,। ऊपर केंद्रीय नेतृत्व में फंडिंग करके मुख्यमंत्री बन गया, ऐसा धोखा कही होता है, ऐसे धोखा देने वाले के हवाले मध्य प्रदेश की जनता छोड़ दिया।

मंत्री तोमर ने दावा करते हुए कहा कि जो आज कल मध्य प्रदेश कांग्रेस के सीईओ हैं, उनका 15 महीने का लेखा-जोखा अगर सही तरीके से खोल दिया गया तो वो बाहर नहीं होंगे, जेल में होंगे। वहीं उन्होंने कर्जमाफी को लेकर कहा कि जो फर्जी सीडी कमलनाथ लेकर घूम रहे हैं, मैं चैलेंज देकर कहता हुं, ग्वालियर चंबल की माटी पर खड़े होकर किसानों से कहलाऊंगा कि दो लाख तक कर्जा आज तक माफ़ नहीं हुआ, जो दस दिन में होना था। झूठ का सहारा लेने वाले कमलनाथ जी, दुर्भाग्य है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का चेहरा आगे रखकर कांग्रेस ने सरकार बनाई थी, मप्र की जनता के साथ धोखा किया।

मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने यदि सिंधिया समर्थक छह मंत्रियों का भ्रष्टाचार का लेखा-जोखा खुल जाए तो वह जेल में होंगे ही। साथ ही इस भ्रष्टाचार की काली कमाई में हिस्सा खाने वाले उनके आका भी जेल में होंगे। सलूजा ने कहा कि यह तो कमलनाथ जी का बड़प्पन है कि उन्होंने नाकाबिल होते हुए भी सिंधिया समर्थकों को मंत्रिमंडल में स्थान दिया। पूरा प्रदेश जानता है कमलनाथ सरकार में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर अपने विभाग का काम छोड़ आए दिन कहीं भी नाली-गटर में उतर कर फ़ोटो सेशन करते हुए दिखाई देते थे। फोटो बाजी के लिए झाड़ू हाथ में पकड़ कर नौटंकी किया करते थे।