ग्वालियर फिर हुआ भोपाल भरोसे !

जिले में काेराेना की जांच करने वाली कंफर्मेट्री किट खत्म

जिले में ट्रूनाॅट मशीन से काेराेना की जांच करने वाली कंफर्मेट्री किट खत्म हाे गई है। इसके कारण अब काेराेना पाॅजिटिव मरीजाें को कंफर्म करने के लिए सैंपल भाेपाल भेजे जा रहे हैं। मंगलवार 4 अगस्त से इटारसी में कंफर्मेट्री किट नहीं हाेने के कारण जांच बंद हाे गई है। अब मरीज की पहली जांच में पाॅजिटिव मिलने के बाद उसकी रिपाेर्ट कंफर्म करने के लिए जांच भाेपाल एम्स में भेजी जा रही है। जांच रिपाेर्ट के लिए एम्स से रिपाेर्ट आने का इंतजार मरीजाें और स्वास्थ्य दाेनाें काे करना पड़ता है। 

काेविड सेंटर और क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती मरीजाें में भी देरी से जांच रिपाेर्ट आने पर असंताेष है। जिले में इटारसी और पिपरिया में काेराेना सैंपलाें की जांच की जाती है। अब इटारसी में कंफर्मेंट्री किट खत्म हाे गई है। जबकि पिपरिया में सिर्फ 5 कंफर्मेंट्री किट बची हुई हैं। किट खत्म के कारण जिले में सैंपलिंग की संख्या फिर से कम हाे गई है। जबकि प्रमुख सचिव नीरज मंडलाेई के 23 जुलाई काे निरीक्षण दाैरे के बाद जिले में काेराेना की सैंपलिंग बढ़ने से आकड़ाें में जबरदस्त उछाल आया था। 

अब इसमें कमी आ गई है। पहले की तुलना में सैंपल भी कम लिए जा रहे है। काेराेना के सैंपल की पहली जांच में अगर काेई व्यक्ति पाॅजिटिव आ जाता है ताे उसकी दूसरी जांच की जाती है। जिसमें कंफर्मेट्री किट का उपयाेग किया जाता है। इसके बाद यह घाेषित किया जाता है कि जिस सैंपल की जांच की गई वह पाॅजिटिव पाया गया है। जिले में अभी तक कंफर्मेंट्री किट सिर्फ 140 ही मिली थी। जाे अब खत्म हाे गई है। वहीं स्क्रीनिंग करने वाली 1200 किट भी खत्म हाे चली है। जिले में सिर्फ 250 किट ही शेष बची हैं।