कोरोना महामारी से पनपी…

नकारात्मकता दूर करने के लिये होगा “ध्यानोत्सव” का आयोजन

ग्वालियर। वैश्विक महामारी कोविड-19 की वजह से आए मुश्किल दौर में लोगों में सकारात्मकता लाने के उद्देश्य से आंतरिक स्वतंत्रता के उत्सव “ध्यानोत्सव” के रूप में सराहनीय पहल हुई है। संभाग आयुक्त एम बी ओझा ने इस वर्चुअल “ध्यानोत्सव” में अधिकाधिक संख्या में भाग लेकर कोविड-19 महामारी की नकारात्मकता दूर कर समाज में सकारात्मकता का वातावरण बनाने की अपील की है। वर्चुअल ध्यानोत्सव का आयोजन हार्टफुलनेस संस्था द्वारा 14 से 16 अगस्त तक किया जा रहा है। “ध्यानोत्सव” में भाग लेने के लिये नि:शुल्क पंजीयन किया जा रहा है। 

संभाग आयुक्त श्री ओझा ने कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखकर 15 अगस्त को राष्ट्रीय आयोजन स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया जाना भी सभी नागरिकों की भावनाओं में अंतरनिहित है। उन्होंने अपील की है कि इस राष्ट्रीय कार्यक्रम को मनाने के साथ-साथ कोविड-19 महामारी की नकारात्मकता को सकारात्मकता में बदलने तथा उत्थान व स्वनिर्माण के लिये “ध्यानोत्सव” कार्यक्रम में जरूर सहभागिता करें। इससे सभी में सकारात्मक सोच तो आयेगी ही, साथ ही शांति और आनंद का अनुभव भी होगा। 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक हार्टफुलनेस संस्था द्वारा आयोजित किए जा रहे वर्चुअल “ध्यानोत्सव” कार्यक्रम के तहत 14 अगस्त को प्रात: 8 बजे से 9 बजे तक तनाव प्रबंधन के तहत रिलैक्सेशन एवं प्राणाहुति के साथ हृदय पर ध्यान लगाया जायेगा। इसी क्रम में 15 अगस्त को इसी समय आंतरिक निर्मलीकरण के तहत आंतरिक स्वतंत्रता, स्वच्छ एवं संतुलित मन पर ध्यान होगा। रविवार 16 अगस्त को ध्यान कार्यक्रम में हृदय की दिव्यता से जुड़ना एवं ब्राइटर माइंड्स के तहत बच्चों में छुपी क्षमताओं को उभारने के लिये एक अनूठे सत्र का आयोजन होगा।