7 की मौत 30 लोगों को बचाया…

विजयवाड़ा स्थित कोविड केयर सेंटर में लगी आग

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा स्थित होटल में आग लग गई. फायर टेंडर ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पा लिया है. इस होटल का इस्तेमाल कोविड सेंटर के रूप में किया जा रहा था. होटल के अंदर फंसे अन्य लोगों को भी सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. ये हादसा होटल स्वर्ण पैलेस में हुआ है. होटल में 40 लोगों के होने की खबर थी. इसमें 30 कोरोना मरीज और 10 लोगों का हॉस्पिटल स्टाफ था. विजयवाड़ा पुलिस ने एएनआई को बताया कि इस हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई है और 30 लोगों को बचा लिया गया है. कड़ी मशक्कत के बाद आग पर भी काबू पा लिया गया है. घायलों को इलाज के लिए पास के स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी खुद इस पूरे हादसे पर नजर बनाए हुए हैं और उन्होंने प्रशासन को घायलों को बेहतर इलाज का निर्देश दिया है. फिलहाल आग पर काबू पाने के बाद पूरी बिल्डिंग को खाली कर दिया है और मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है. 

विजयवाड़ा के पुलिस कमिश्नर बी श्रीनिवासुलु ने बताया, 'सुबह करीब 5:09 बजे आग लगने की सूचना मिली, 25-30 मिनट में आग पर काबू पा लिया गया. होटल में फंसे 15-20 लोगों को बचाया गया है और दूसरे निजी अस्पताल में भेजा गया. कुछ की हालत अस्पताल में गंभीर है. करीब 30 कोविड मरीज और 10 अस्पताल स्टाफ बिल्डिंग में फंसे थे.' कृष्णा के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर मोहम्मद इम्तियाज ने एएनआई को बताया, 'हादसा सुबह करीब 5 बजे हुआ. करीब 22 मरीजों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हमने पूरी बिल्डिंग खाली करा दी है. शुरुआती जांच में पता चला है कि आग शॉर्ट सर्किट होने की वजह से लगी. हम आगे की जांच भी कर रहे हैं.' केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किशन रेड्डी ने भी घटना पर दुख जताया है. किशन रेड्डी ने ट्वीट किया, 'विजयवाड़ा के कोविड सेंटर में आग की खबर से हैरान और व्यथित हूं. राहत अभियान के लिए स्थानीय अथॉरिटी के साथ एनडीआरएफ की टीम भी जुट गई है. शोक संतप्तों के परिवारों के लिए प्रार्थना और अन्य लोग सुरक्षित हों.' 

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा, 'आज सुबह विजयवाड़ा कोविड सेंटर में आग दुर्घटना के बारे में जानने के बाद गहरी पीड़ा हुई. हादसे में मरने वालों के परिजनों के साथ मेरी संवेदनाएं और घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना करता हूं.' आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने इस घटना पर दुख जताया है. इसके साथ उन्होंने घटना की जांच के आदेश भी दे दिए हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि एक निजी अस्पताल ने होटल को किराए पर लिया था, शुरुआती जांच में पता चला है कि यहां कोरोना मरीजों को इलाज के लिए रखा गया था. मुख्यमंत्री ने सभी घायलों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ जगनमोहन रेड्डी ने सभी अथॉरिटी को मामले की पूरी तरह जांच करने का आदेश भी दिया है और इसकी रिपोर्ट सीधा उन्हें देने के लिए कहा है.