2 बजे के करीब हाईटाइड की चेतावनी…
भारी बारिश से बेहाल हुई मुंबई
महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में बारिश के कारण बुरा हाल है. बुधवार को लगातार बारिश होने के कारण शहर के कई हिस्सों में पानी भर गया, सब यातायात ठप हो गया, जहां लोग थे वहां ही फंस गए. हालात ये हैं कि सिर्फ 12 घंटे में ही मुंबई के कोलाबा इलाके में इतनी बारिश हो गई जितनी 46 साल में नहीं हुई थी. गुरुवार को भी मुंबई में तेज बारिश का अलर्ट जारी है और तेज हवाएं चलने की बात कही गई है.
  • 11.00 AM: बीएमसी की ओर से सभी जरूरी हेल्पलाइन नंबरों की लिस्ट जारी की गई है.
  • 10.50 AM: तेज हवा और भारी बारिश के कारण मुंबई के अलग-अलग इलाकों में पेड़ गिर गए हैं. BMC के पास ऐसी करीब 150 शिकायत आई हैं, एक-एक करके पेड़ों को हटाया जा रहा है.
  • 10.29 AM: भारी बारिश के अगले दिन मुंबई के कई इलाकों में जाम की स्थिति है. मुंबई-नासिक हाइवे पर काफी लंबा जाम लगा है, इसके अलावा कल्याण भिवंडी बाईपास, मुंब्रा बाईपास पर भी गाड़ियों की लंबी लाइन है.
  • 10.23 AM: मौसम विभाग की ओर से चेतावनी दी गई है कि दोपहर 1.51 बजे हाईटाइड आ सकती है. 4.33 मीटर की ऊंचाई तक की हाईटाइड की चेतावनी दी गई है.
  • 10.00AM: मुंबई के नायर अस्पताल में बारिश के कारण पानी भर गया. शहर के कई इलाके ऐसे हैं, जो पानी से भर चुके हैं.
  • 09.45 AM: मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार को कोलाबा इलाके में 331 MM तक बारिश हुई, जबकि सांताक्रूज इलाके में 163 MM के करीब बरसात हुई. अगले तीन-चार घंटे में मुंबई और आसपास के इलाकों में बारिश हो सकती है.
  • 09.30 AM: मुंबई पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वो अपने घरों में ही रहे, बहुत अधिक जरूरी हो तभी घरों से बाहर निकलें.
  •  09.00 AM: अभी मुंबई में तेज बारिश नहीं हो रही है, लेकिन पानी भरा हुआ है. अलग-अलग इलाकों में NDRF की कुल 16 टीमें तैनात हैं.
मौसम विभाग और बीएमसी की ओर से अपील की जा रही है कि लोग अपने घरों से बाहर ना निकलें, क्योंकि हालात पूरे शहर में खराब हैं और कोई भी कहीं पर फंस सकता है. मुंबई में तेज बारिश होने के कारण ट्रेन के ट्रैक पर भी पानी भर गया, जिसके कारण दो लोकल ट्रेनें फंस गई. जिसके बाद NDRF की टीमों ने इन ट्रेनों में से 290 लोगों का रेस्क्यू किया. मौसम विभाग के अनुसार, मुंबई-ठाणे-पालघर जैसे इलाकों में रिकॉर्डतोड़ बारिश हुई है. 12 घंटे के भीतर मुंबई में 215.8 MM तक बारिश हो गई थी, जबकि हवा की रफ्तार भी 100 किमी. प्रति घंटा से अधिक रही. यही कारण है कि कई जगह पेड़, बोर्ड टूटे हुए हैं और घरों को भी नुकसान पहुंचा है.
  • मुंबई पुलिस, रेलवे पुलिस, NDRF, बीएमसी की कई टीमें अलग-अलग इलाकों में तैनात हैं.
  • 150 से अधिक पेड़ गिरने की शिकायतें आ चुकी हैं, जिन्हें अब हटाया जा रहा है.
  • अलग-अलग इलाकों में दस जगह शॉर्ट सर्किट होने की शिकायत आई हैं.
  • बीएमसी के पास 6 जगह घर या दीवार गिरने की शिकायत आई है, इनमें कोई घायल नहीं हुआ है.
  • शेयर बाजार यानी BSE की बिल्डिंग पर लगा बोर्ड भी बारिश के कारण गिर गया.
तेज बारिश की वजह से मुंबई के निचले इलाकों में पानी भर गया है, घरों के अंदर तक पानी आ गया है और लोगों को सहायता मांगनी पड़ रही है. चेंबूर, पारेल, हिन्दमाता, वडाला समेत कई इलाकों में ट्रेन सर्विस अन्य यातायात की सर्विस को पूरी तरह से रोक दिया गया है. कुछ जगह लोगों को बचाने के लिए प्रशासन को बोट तक चलानी पड़ी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देर शाम को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की और राज्य के हालात का जायजा लिया. पीएम की ओर से सीएम को केंद्र की ओर से मिलने वाली हर संभव मदद का भरोसा दिलाया गया.