एक्टिव प्रकरणों की संख्या में कमी आना प्रारंभ…

कोरोना एक्टिव मरीजों 16वें स्थान पर आया मध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना के एक्टिव प्रकरणों में देश में तुलनात्मक रूप से मध्यप्रदेश 16वें स्थान पर आ गया है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 8716 है। प्रारंभ में मध्यप्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही थी परन्तु पिछले कुछ दिनों में पूरे देश के साथ ही मध्यप्रदेश में भी एक्टिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी। अब नए पॉजीटिव मरीजों की तुलना में ठीक होकर घर जा रहे मरीजों की संख्या बढ़ी है तथा प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या में कमी आना प्रारंभ हो गया है, जो कि अच्छे संकेत हैं। आज प्रदेश में 838 कोरोना के मरीज स्वस्थ होकर घर गए तथा 830 नए मरीज पाए गए। 

हमारी रिकवरी रेट 73.6 प्रतिशत हो गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि बिना लक्षण वाले मरीजों के 'होम आइसोलेशन' तथा संदिग्ध मरीजों को 'होम क्वारेंटाइन' किए जाने के लिए विस्तृत गाइड लाइन स्वास्थ्य विभाग जारी करे, जिससे ऐसे व्यक्ति जिनके घर पर पर्याप्त स्थान है तथा जो स्वेच्छा से 'होम आइसोलेशन' या 'होम क्वारेंटाइन' होना चाहते हैं, उनकी मदद की जा सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अब लॉकडाउन केवल सप्ताह में एक दिन रविवार को रहेगा तथा रात्रि कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 05 बजे तक रहेगा। जिलों की विशेष परिस्थितियां होने पर राज्य स्तर से अनुमति लेकर ही लॉकडाउन के संबंध में कोई अन्य कार्रवाई की जा सकेगी। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी कोविड अस्पतालों में सर्वोत्तम इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाकर मृत्यु दर को न्यूनतम किए जाने के प्रयास करें। अभी प्रदेश की कोरोना मृत्यु दर 4.32 प्रतिशत है। कोरोना की मृत्यु दर किस प्रकार कम की जाए इसके लिए अशासकीय विषय विशेषज्ञों से भी राय ली जाए। एसीएस हैल्थ मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश के चार जिलों इंदौर, भोपाल, ग्वालियर एवं जबलपुर में कोरोना के सर्वाधिक मरीज हैं। क्रमश: आज इन जिलों में 157,155,89 एवं 77 नए मरीज मिले हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने चारों जिलों पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए।