बढ़ रही है संक्रमितों की संख्या…
भोपाल में पड़ सकती है आईसोलेशन कोच की जरूरत !

भोपाल। राजधानी व ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गुरुवार को तो 191 नए संक्रमित मिले हैं। इतने संक्रमित मिलना, अभी तक का रिकॉर्ड है। इस तरह आगे भी संक्रमित बढ़ते रहे तो बेड की जरूरत पड़ेगी। दरअसल, आने वाले समय में बेड की कमी को लेकर पहले से प्रशासन चिंतित है। ऐसे में रेलवे द्वारा तैयार मोबाइल आइसोलेशन कोच मददगार साबित हो सकते हैं, क्योंकि एक कोच में छह से सात बेड हैं। संक्रमितों को भर्ती किया जा सकेगा, लेकिन ये कोच अभी से बुक कराने होंगे। 

ऐसा इसलिए, क्योंकि मुंबई, पुणे, गुजरात समेत तमाम शहरों में संक्रमित बढ़ रहे हैं। पहले दिल्ली में भी बढ़ रहे थे तब भोपाल में तैयार कुछ कोच दिल्ली ने मंगा लिए थे। अब करीब 50 कोच बचे हैं, जिनका बुलावा किसी भी शहर से आ सकता है इसलिए जिला प्रशासन को बेड का आकलन ठीक से कर लेना चाहिए। फिर यदि कम पड़ने की संभावना लगे तो अभी से कोच बुक करा लेने चाहिए, ताकि भोपाल के संक्रमित ऐनवक्त पर बेड के लिए परेशान न हो। वैसे जिला प्रशासन ने निजी अस्पतालों में 10 हजार से अधिक बेड चिन्हित करने की बात कही हैं। 
उसके पहले रेलवे बोर्ड ने अलग-अलग पुराने कोचों में अतिरिक्त बेड तैयार कराने का काम पूरा कर लिया है। भोपाल में भी कोच के अंदर बेड तैयार किए हैं। यह काम निशातपुरा रेल कोच फैक्ट्री व भोपाल स्टेशन के पास कोचिंग डिपो में हुआ है। कुल मिलाकर 73 पुराने कोचों में बेड तैयार किए हैं। इनमें से 21 कोच दिल्ली भेजे जा चुके हैं। एक कोच में छह से सात बेड बनाए हैं। जरूरत पड़ने पर कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती कर इलाज किया जा सकेगा।