पायलट को मनाने में जुटे कांग्रेस के आला नेता…
सुलह के लिए कांग्रेस ने सचिन को फिर भेजा न्योता

जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस  में जारी कलह के बीच कांग्रेस के आला नेता सचिन पायलट को मनाने में जुटे हैं. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस ने राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट  और गैर हाजिर विधायकों को सुलह का एक और मौका दिया है. पायलट और गैर हाजिर विधायकों को कल सुबह 10 बजे होटल फेयरमाउंट में बुलाया गया है. इन लोगों से कहा गया है कि बैठक में आकर अपनी बात रखें. कांग्रेस नेता और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जो भी मतभेद हैं सीएम अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट और सभी विधायक साथ मिलकर बातचीत से उसका हल निकालें. 

सचिन पायलट के नहीं आने के सवाल पर सुरजेवाला ने कहा कि कल सुबह 10 बजे बैठक होने होने पर स्थिति स्पष्ट हो जाएगी. जानकारी के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होटल फेयरमाउंट में ही मौजूद हैं. बताया जा रहा है कि सीएम विधायकों के साथ रात को यही रुकेंगे. इससे पहले सचिन पायलट के करीबी सूत्रों ने कहा था कि अशोक गहलोत सरकार के पास वो संख्याबल नहीं है, जिनका वो दावा कर रहे हैं. सूत्रों ने कहा कि सीएम का बैक गार्डन बहुमत साबित करने की जगह नहीं है, यह विधानसभा में किया जाता है. यदि उनके पास दावे के अनुसार संख्याबल है तो विधायकों को होटल में क्यों ले जाया जा रहा है. 

इस बीच राजस्थान के कैबिनेट मंत्री रमेश मीना ने खुलकर सचिन पायलट का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि वह सचिन पायलट के साथ हैं. सूत्रों का दावा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के घर पर सोमवार सुबह हुई बैठक में 20 विधायक शामिल नहीं हुए. जबकि अशोक गहलोत ने कहा कि बैठक में 109 विधायक पहुंचे. सभी को होटल में शिफ्ट कर दिया गया है. पायलट के करीबी सूत्रों का यह भी कहना है कि सचिन पायलट बीजेपी में शामिल नहीं हो रहे हैं. उधर, कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डी. के. शिवकुमार ने सोमवार को विश्वास जताया कि, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे. उन्होंने पायलट को 'सच्चा कांग्रेसी' बताया है.