संक्रमण के मामलों में 16वें नंबर पर आया प्रदेश…
प्रदेश में कम्युनिटी स्प्रेड जैसे हालात नहीं : शिवराज

भोपाल। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या के बीच 305 नए मामले सामने आए, जिसके चलते एक्टिव मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। राज्य स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा आज रात यहां जारी बुलेटिन के अनुसार पिछले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश भर में 305 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 16341 तक पहुंच गई। एक्टिव मरीजों के मुकाबले गुरुवार इसकी संख्या बढ़कर 3475 तक पहुंच गई। इस बीच 245 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं, जिसके बाद इस बीमारी से अब तक 12232 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। मध्यप्रदेश में पिछले एक सप्ताह में प्रदेश के विशेषकर सीमावर्ती जिलों से कोरोना के ज्यादा मामले आने से प्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट बढ़ गई है। पहले संक्रमण बढ़ने की दर जहां 1.72% थी, वह अब 2.01% हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज ने समीक्षा बैठक में कहा कि पॉजिटिविटी का प्रतिशत 1.26% जो स्पष्ट रूप से बताता है कि प्रदेश में कम्युनिटी स्प्रेड जैसी कोई स्थिति नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के 17 ऐसे राज्य जहां कोरोना संक्रमण अपेक्षाकृत अधिक है, इनमें एक्टिव प्रकरणों की संख्या में मध्य प्रदेश अब 16वें स्थान पर आ गया है, 17वें स्थान पर केरल है। भोपाल जिला प्रशासन, राष्ट्रीय सेवा योजना और यूनिसेफ की साझा पहल पर जागरुकता अभियान शुरू किया गया। इसमें कलाकार यमराज और चित्रगुप्त के भेष में हैं। 

इसी बीच इंदौर में 45, भोपाल में 53, ग्वालियर में 58, जबलपुर में 22, उज्जैन में 1, मुरैना में 8, नीमच में 7, सागर में 7, बुरहानपुर में 4, खंडवा में 4, खरगोन में 3, भिंड में 3, देवास में 2, रतलाम में 4, मंदसौर में 14, राजगढ़ में 6, शिवपुरी में 5, टीकमगढ़ में 17, श्योपुर में 3, बैतूल में 4, शाजापुर में 8, विदिशा में 5, छिंदवाड़ा में 1, रीवा में 2, छतरपुर में 1, हरदा में 2, दमोह में 1 नए मरीज मिलें हैं। इसी प्रकार सतना में 2, बालाघाट में 4, होशंगाबाद में 1, सीहोर में 2, झाबुआ में 1, सीधी में 1, आगरमालवा में 2, सिवनी में 1 और अलीराजपुर में एक मामला सामने आया है। इसके अलावा प्रदेश भर में पांच नई मौत दर्ज की गयी, जिसमें इंदौर में 3, भोपाल में 1 और अलीराजपुर में 1 मरीज की मौत हो जाने के बाद इस बीमारी से अब तक 634 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। भोपाल पुलिस लोगों से कोरोना की गंभीरता समझाने के लिए इस तरह अपील कर रही है। बड़वानी, मुरैना और अन्य सीमावर्ती जिलों की समीक्षा के दौरान यह तथ्य सामने आया कि वहां कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। वहां सीमा पार दूसरे प्रांतों में संक्रमण ज्यादा होने से इन जिलों में संक्रमण बढ़ रहा है। इस पर शिवराज ने मुख्य सचिव और डीजीपी को निर्देश दिए कि वे इस संबंध में मैकेनिज्म तैयार कर पब्लिक एडवाइजरी जारी करें। हमें प्रदेश में हर स्थान पर कोरोना संक्रमण को बढ़ने से हर-हाल में रोकना है।

शिवराज ने निर्देश दिए कि प्रदेश में मास्क का प्रयोग अनिवार्य किया गया है। इसी प्रकार शॉपिंग मॉल, कार्यालयों आदि में सैनिटाइजर रखना आवश्यक है। ऐसा न करने पर जुर्माना किया जाए। सभी स्थानों पर फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कराना अनिवार्य होगा। अगर ऐसा नहीं किया गया, तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाए। कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर भोपाल पुलिस विभिन्न स्थानों पर बेरिकेटिंग कर वाहनों व संदिग्धों की सघनता से चेकिंग कर रही है। यह चेकिंग पाइंट तलैया रोड पर है। प्रदेश में किल कोरोना अभियान के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। पहले प्रदेश में टेस्टिंग क्षमता 6000 टेस्ट प्रतिदिन थी, जो इस अभियान के चलते 12104 पहुंच गई है। किल कोरोना अभियान के अंतर्गत लिए गए सैंपल की पॉजिटिविटी दर 2.2 प्रतिशत आ रही है। इंदौर जिले की समीक्षा में पाया गया कि वहां की हालत में निरंतर सुधार हो रहा है। इंदौर में कोरोना की पॉजीटिविटी दर निरंतर कम हुई है। पहले यह दर 11 प्रतिशत तक थी, जो अब घटकर 2.12 प्रतिशत रह गई है। इंदौर में वर्तमान में 875 एक्टिव केस हैं। 3871 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। इंदौर में मृत्यु दर एक प्रतिशत से भी नीचे आ चुकी है।