बैठक में बिजली मंत्री का सख्त रवैया…
बिजली चोरी रोकने के लिये बढ़ाएं पेट्रोलिंग : ऊर्जा मंत्री

भोपाल। मध्य प्रदेश के बिजली मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मंगलवार को कहा कि ट्रांसफार्मर और मीटर उतने ही खरीदे जाएं, जितने की जरूरत हो। इस दौरान उन्होंने सभी वितरण कंपनियों के स्टोर का भी निरीक्षण कराने के निर्देश दिए हैं। तोमर सिंधिया खेमे के मंत्री हैं और ग्वालियर से विधायक हैं। उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के साथ ही कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली से संबंधित नुकसान को कम करने के लिए 90 दिन का लक्ष्य रखें। इस दौरान हर छोटी-बड़ी कमियों का विश्लेषण कर उन्हें दूर करने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि बिजली चोरी रोकने के लिये पेट्रोलिंग बढ़ाएं। सभी स्तर के अधिकारी फील्ड में जायें। बिजली मंत्री ने सख्त लहजे मेे कहा कि लापरवाह और काम नहीं करने वाले अधिकारी-कर्मचारी को वीआरएस दिया जाए।

मंत्री तोमर को सोमवार को ही ऊर्जा मंत्रालय मिला है। वह मंगलवार को मंत्रालय में विभागीय योजनाओं की समीक्षा में दिए। उन्होंने कहा कि शहरों में शत-प्रतिशत घरों में बिजली मीटर लगाए जाएं। इसके साथ ही प्रतिमाह इनकी रीडिंग भी ली जाये। इससे जहां विद्युत उपभोक्ता संतुष्ट होगा, वहीं कंपनी की आय भी बढ़ेगी। इस बीच शाम को बिजली मंत्री ने भोपाल में एरिया स्टोर का औचक निरीक्षण किया। यहां उन्होंने सामग्री प्रबंधन और गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

मंत्री तोमर ने कहा कि स्टोर में जो सामग्री पड़ी है, उसे फील्ड में भेजें। सामग्री की जरूरत का आकलन बेहतर ढंग से करें। अनावश्यक सामग्री नहीं खरीदी जाए। उन्होंने कहा कि सभी लोग मिलकर उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएं दें। आपके मान-सम्मान में कोई कमी नहीं आने देंगे। कहीं खंभे टेढ़े हैं, तो कहीं तार झूल रहे हैं, ऐसी समस्याओं का त्वरित निराकरण करें। बैठक में प्रमुख सचिव ऊर्जा संजय दुबे ने विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। इस दौरान सचिव आकाश त्रिपाठी, ओएसडी एस.के. शर्मा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।