प्रदेश अध्यक्ष से होगी चर्चा…
CM शिवराज के आग्रह पर राजधानी पहुँचे जय सिंह कुशवाह

 ग्वालियर । जयसिंह कुशवाह के कांग्रेस में जाने की संभावना को देखते हुए भाजपा सकते में आ गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह एवं प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने उन्हें भोपाल बुलाया है। मंगलवार को राजधानी में इनके बीच चर्चा होगी । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह एवं प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने सोमवार को ग्वालियर प्रवास के दौरान बापू से भोपाल आने का आग्रह किया । साथ ही कहा कि आपके सम्मान का पूरा ख्याल रखा जाएगा। उनके आग्रह को स्वीकार करते हुए कुशवाह सोमवार की शाम भोपाल रवाना हो गए। श्री कुशवाह भाजपा  सत्ता और संगठन की उपेक्षा से खासे नाराज हैं। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के खास माने जाने वाले बापू की कई मौकों पर अनदेखी की गई ।

ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र से पिछले दो दशक से टिकट की चाह रखने वाले बापू को सिर्फ आश्वासन ही मिला।  मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा के  प्रभारी रहते वक्त 2018 के विधानसभा चुनाव में भी उन्हें टिकट का भरोसा दिलाया गया था बावजूद इसके उन्हें निराशा ही हाथ लगी। इसके साथ ही उन्हें किसी बड़े पद पर नहीं रखा गया। ऐसे में जब भाजपा कांग्रेसियों को अपने खेमे में लाने में जुटी हुई हैं वही कुशवाह ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं दिग्विजय सिंह से मुलाकात कर अंचल की राजनीति में हलचल पैदा कर दी। मीडिया में खबर आने के  बाद भाजपा सत्ता और संगठन की नींद टूटी है। 

क्योंकि आने वाले उपचुनाव में कुशवाह का भाजपा को छोड़ना पार्टी के लिए घातक साबित हो सकता है।  पहले ही ब्राह्मण नेता बालेंदु शुक्ल पार्टी को त्याग चुके हैं। अब इनके छोड़ने पर क्षत्रिय समाज की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है। जबकि कुशवाह पार्टी फोरम में स्वर्ण हितों की खातिर आरक्षण के मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रख चुके हैं। स्वर्ण आरक्षण के पैरोकारी कुशवाह आने वाले समय में भाजपा की मुसीबत बड़ा सकते हैं। कुशवाह ने भी स्पष्ट तौर पर कह दिया है कि भाजपा ने यदि उनके पार्टी के प्रति निष्ठा, समर्पण और त्याग को ध्यान में रखते हुए उचित सम्मान का ख्याल नहीं रखा तो उनके लिए विकल्प खुले हुए हैं।