बिजली कटौती की मिल रही शिकायतें…
पेयजल सप्लाई के समय बिजली कटौती न की जाए : श्री पाठक

ग्वालियर दक्षिण विधानसभा से कांग्रेस पार्टी के विधायक प्रवीण पाठक जी ने आज पीएचई एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक कर कहा कि क्षेत्र में पेयजल सप्लाई के समय विद्युत कटौती न की जाए, क्योंकि इससे लोगों को पर्याप्त पानी नहीं मिल पाता और लोग गर्मी में पानी के लिए लगातार परेशान होते रहते हैं  । विधायक श्री पाठक ने कहा कि विद्युत का मेंटेनेंस ऐसे समय किया जाए जब क्षेत्र में पेयजल सप्लाई का समय न हो ।

आज दोपहर रोशनी घर स्थित महाप्रबंधक शहर वृत्त मध्य प्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक में दोनों विभाग पीएचई और विद्युत विभाग के अधिकारी  विधायक जी की इस बात से सहमत थे कि  मेंटेनेंस  के लिए विद्युत सप्लाई ऐसे समय काटी जाएगी जब क्षेत्र में पेयजल सप्लाई का समय न हो । विधायक श्री पाठक को लगातार क्षेत्र की जनता के द्वारा ऐसी शिकायतें मिल रही थीं कि क्षेत्र में विद्युत मेंटेनेंस के नाम पर जो कटौती की जाती है वह ऐसे समय की जाती है जिस दिन पेयजल सप्लाई का टर्न होता है इसी बात को लेकर आज बैठक आयोजित की गई  ।

विधायक श्री पाठक ने बैठक में कहा कि दोनों विभाग के अधिकारी आपस में सामंजस्य बनाकर कार्य करें एवं आपस में पेयजल सप्लाई के शेड्यूल और विद्युत शटडाउन का शेड्यूल साझा कर लें जिससे कि पेयजल आपूर्ति निर्बाध रूप से होती रहे और लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके बाद दोनों विभाग के अधिकारियों ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर तय किया कि आगे से पेयजल सप्लाई का शेड्यूल और विद्युत मेंटेनेंस के लिए निर्धारित किए गए शेड्यूल आपस में साझा करके सामंजस्य बैठाकर कार्य किया जाएगा जिससे भविष्य में पेयजल सप्लाई के समय विद्युत शट डाउन  नहीं होगा।

इस बैठक में  विद्युत विभाग के  महाप्रबंधक शहर वृत्त विनोद कटारे, कार्यपालन यंत्री राज मालवीय एवं  राहुल साहू  पीएचई विभाग  के एई के सी अग्रवाल  एवं बी पी त्रिपाठी सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद थे  ।
बैठक में विधायक श्री पाठक ने यह भी कहा कि मेंटेनेंस के लिए  जितना समय निर्धारित किया जाता है उसी निर्धारित समय में विद्युत सप्लाई दोबारा चालू हो जाए, अमूमन ऐसा देखने में आता है कि बिजली काटने का शेड्यूल जितना निर्धारित होता है उससे ज्यादा समय के बाद लाइट पुनः चालू होती है  । अधिकारियों ने इस बात का भी आश्वासन दिया कि आगे से ध्यान रखा जाएगा कि निर्धारित समय में ही पुनः बिजली चालू हो जाए  ।