वायरलेस पर प्रेरक गीतों के माध्यम से…
पुलिस कर रही है साथियों का उत्साहवर्धन

इंदौर शहर की जनता परम सौभाग्यशाली हैं कि इन्हें हितैषी पुलिसकर्मी मिले हैं । ये सुरक्षा व्यवस्था का पालन तो सख्ती से करवा ही रहे हैं आपके हित में । साथ ही साथ ये समाजसेवा में भी जी जान से जुटे हुए हैं । और इसी तरह अपने सहकर्मी पुलिस का भी ध्यान परिवार के मुखिया की तरह रख रहे हैं । वाकई पूरे देश में इंदौर शहर के पुलिस कर्मीयों के कोरोना के विरुद्ध मुकाबला एक अनुकरणीय उदारहरण बन चुका है । हमारे अपने इंदौर शहर में लॉक डाउन के दौरान यह भी पता चला कि पुलिस का व्यवहार रूखा और सख्त ही नहीं होता । उनके हृदय में भी गीत बसे रहते हैं वे भी खुलकर गुनगुनाना , गीत गाना चाहते हैं , क्यों कि वे भी तो हमारे आपके जैसे इंसान ही हैं । 

लॉक डाउन काल में कई पुलिस कर्मी और रिटायर्ड पुलिसकर्मी अपनी सुमधुर आवाज में गीत गा , सुनाकर पुलिसकर्मीयों और जनता का उत्साहवर्धन कर रहे हैं । इसी तारतम्य थाना पंढरीनाथ पदम सिंह  ने निकलो ना तुम बेनकाब  करोना खराब है यह गीत को गाकर किया इंदौर पुलिस में एक नये उत्साह का संचार ।  वर्तमान समय में वैश्विक महामारी कोरोना से उत्पन्न इस विकट स्थिति में पुलिस बहुत ही चुनौतीपूर्ण एवं कठिन ड्यूटी कर रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ज़ोन  विवेक शर्मा द्वारा पुलिस के मनोबल को बढ़ाने व उनमें सकारात्मकता लाने के लिये 'गीत हम गायेंगे, कोरोना तुम्हे हरायेंगे' कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया है, जिसके तहत प्रतिदिन इंदौर पुलिस एक साथ 2 मिनिट के लिये रेडियो मैसेज के द्वारा एक दूसरे से जुड़कर अपनी रचनात्मक एंव सकारात्मक कविता/गानें/बातें आदि आपस में साझा कर रहे हैं। 

इसी के चलते पदम सिह द्वारा  निकलो ना तुम बेनकाब करोना खराब है' जिसके माध्यम से उन्होंने सभी को यह संदेश दिया कि, ये कोरोना महामारी के विरूद्ध जो हमारी लड़ाई हैं, भले ही कठिन हो, लेकिन हम सभी एकजुटता एवं सकारात्मकता के साथ अपना उत्साह बनाये रखते हुए लड़गें तो हम जरूर जीतेंगे। इस सकारात्मकता एवं ऊर्जा से प्रेरित गीत सुनाने पर पुलिस महानिरीक्षक इंदौर और थाना प्रभारी  कमलेश शर्मा द्वारा पदम सिंह की प्रशंसा कर उनका उत्साहवर्धन किया गया। अपने को सुरक्षित रखने की समझाईश दी गई।