कार्यालयीन अधिकारियों की ली बैठक…
कार्यालयों की व्यवस्थायें सुदृढ़ एवं सटीक जबाव के साथ फाइल प्रस्तुत करें : श्री मिश्रा

मुरैना। चंबल संभाग के कमिश्नर रविन्द्र कुमार मिश्रा की अध्यक्षता में कार्यालयीन अधिकारी, कर्मचारियों के साथ परिचयात्मक बैठक आहूत की गई। बैठक में सभी कार्यालयीन अधिकारी, कर्मचारियों का परिचय हुआ तथा कमिश्नर द्वारा कार्यालयीन व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ बनाने एवं फाइलों पर सटीक जबाव प्रस्तुत करने के निर्देश गुरूवार को चंबल भवन में दिये। इस अवसर पर अपर आयुक्त अशोक कुमार चैहान, संयुक्त आयुक्त विकास राजेन्द्र सिह, अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त अरविन्द शर्मा, उप संचालक पंचायत राज अशोक निम, कार्यालय अधीक्षक एवं समस्त कर्मचारी उपस्थित थे। 

चंबल संभाग के कमिश्नर रविन्द्र कुमार मिश्रा ने सभी अधिकारी, कर्मचारियों कार्यालय में निर्धारित समय पर उपस्थित होना सुनिश्चित करने का आग्रह किया। कार्यालयीन प्रत्येक शाखा का रोस्टर निरीक्षण तैयार हो, जिसका कार्यालयीन सहायक अधीक्षक, अधीक्षक एवं अन्य अधिकारियों द्वारा एक कैलेण्डर वर्ष में कम से कम दो बार निरीक्षण किया जाना सुनिश्चित करें। प्रत्येक कर्मचारी को अपनी टेबिल का प्रतिदिन स्वयं निरीक्षण अनिवार्य होना चाहिए। जिससे सभी रिकार्ड सही ढंग से संधारित रहे तथा अपने आस-पास साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। किसी शाखा में कोई अत्यावश्यक डाक व नस्ती हो, जिसका तत्समय ही निराकरण या मेरे संज्ञान में लाना अनिवार्य हो व नस्ती उचित माध्यम से आने में बिलम्ब हो तब ऐसी स्थिति में सीधे स्टेनो शाखा में या कमिश्नर के व्हाट्सएप्प पर या फिर सीधे प्रस्तुत की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में नोबेल कोरोना महामारी के फैलते संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत कोविड-19 के नियमों का अनिवार्यतः पालन किया जावे। किसी भी बाहरी व्यक्ति जो सार्वजनिक स्थल से चलकर सीधे कार्यालयीन कर्मचारी के सम्पर्क में न आए, आवश्यक होने पर कार्यालयीन अधीक्षक से सम्पर्क स्थापित करें। बाहरी व्यक्ति द्वारा चाही गई जानकारी अधिकृत अधिकारी व कार्यालयीन अधीक्षक द्वारा ही दी जावे अन्य कार्यालयीन कर्मचारी द्वारा सीधे सम्पर्क स्थापित नहीं किया जाए। कार्यालयीन अधीक्षक ध्यान रखें कि कार्यालयीन शाखा में किसी प्रकार के क्लेम आदि प्रकरण की नस्ती प्रचलित हों तो उन्हें तत्काल निराकृत कराने की कार्यवाही की जाना सुनिश्चित करें। बैठक के अन्त में कमिश्नर द्वारा सभी अधिकारी, कर्मचारियों को आपस में सौहार्दपूर्ण वातावरण निर्मित रखते हुए सभी की व्यक्तिगत समस्याओं का भी जो क्षेत्राधिकार में हों, सहयोग करने का आग्रह किया गया।