जल्द होगा भूमि-पूजन…
CM शिवराज ने चंबल एक्सप्रेस-वे को लेकर गडकरी से की चर्चा

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि अपने पिछले कार्यकाल के दौरान उन्होंने जो 'चंबल एक्सप्रेस-वे' बनाने की घोषणा की थी उसकी आधारशिला इस कार्यकाल में रख देंगे. लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज ने 'चंबल एक्सप्रेस-वे' का नाम बदलकर अब 'चंबल प्रोग्रेस-वे' कर दिया है. जल्द ही इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू होगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को हुई कैबिनेट मीटिंग के बाद इस बारे में ट्वीट के जरिए जानकारी दी.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, 'मैंने अभी-अभी मंत्रालय में हुई मीटिंग में ये फैसला लिया है कि मैंने मेरे पिछले कार्यकाल में जो ‘चंबल एक्सप्रेस वे’ बनाने का फैसला लिया था, और जिसे कांग्रेस सरकार ने ठंडे बस्ते में डाल दिया था, उसे एक नए प्रारूप में ‘चंबल प्राग्रेस वे’ के नाम से तुरंत बनाया जाएगा.'



मुख्यमंत्री शिवराज ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, 'ये चंबल के विकास का महा पथ बनेगा, महा पथ के दोनो तरफ चुनिंदा जगहों पर औद्योगिक इकाइयां और व्यापारिक व्यवस्थाएं बनाई जाएंगी. मेरी श्री नितिन गड़करी जी से अभी इस मुद्दे पर फोन से चर्चा हुई और हम दोनों बहुत जल्दी ही इस ‘चंबल प्राग्रेस वे’ का भूमिपूजन करेंगे और काम चालू करेंगे.'


आपको बता दें कि केंद्र सरकार के भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत मध्य प्रदेश के मुरैना से राजस्थान के कोटा तक 352 किलोमीटर लंबे चंबल एक्सप्रेस-वे का निर्माण प्रस्तावित है. इस प्रोजेक्ट के डीपीआर बनाने और जमीन अधिग्रहित करने की जिम्मेदारी मध्य प्रदेश सरकार की है. सड़क निर्माण भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण करेगा. चंबल एक्सप्रेस-वे तीन राज्यों मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और राजस्थान को आपस में जोड़ेगा. यह एक्सप्रेस-वे 8 लेन का होगा. इस एक्सप्रेस-वे  का विस्तार चंबल नदी के किनारे होगा.