कलेक्टर ने इंसीडेंट कमांडरों को दिए निर्देश…

मास्क न लगाने एवं भीड़ एकत्रित होने पर दुकानदारों पर होगी कार्रवाई 


ग्वालियर। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सभी इंसीडेंट कमाण्डरों को निर्देश देते हुए कहा कि नागरिको को जो रियायत दी गई है, उसमें लॉकडाउन का पूर्ण रूप से पालन हो। मास्क न लगाने वालों एवं दुकानों पर अधिक भीड़ एकत्रित होने पर संबंधित दुकानदार पर चालान की कार्रवाई करें। कलेक्टर श्री सिंह ने उक्त निर्देश सोमवार को स्मार्ट सिटी कमाण्ड कंट्रोल सेंटर में इंसीडेंट कमाण्डरों की बैठक में दिए।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवम वर्मा, स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह, अपर कलेक्टर टी एन सिंह, अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य सहित इंसीडेंट कमाण्डर एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री सिंह ने इंसीडेंट कमाण्डरों को निर्देश देते हुए कहा कि सर्वे का कार्य और प्रभावी तरीके से हो। सर्वे टीम सर्वे के दौरान दो गज की दूरी बनाकर परिवार के प्रत्येक सदस्य के बारे में सर्दी जुकाम, खाँसी, बुखार के साथ बुजुर्ग एवं बच्चों तथा ब्लडप्रेशर, मधुमेह एवं अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों की जानकारी ले। सांस लेने या कोविड-19 के लक्षण पाए जाने पर सेम्पलिंग कराई जाए।

कलेक्टर ने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों को संस्थागत क्वारंटाइन कराने की अपेक्षा 14 दिन तक घर में ही क्वारंटाइन करने की समझाइश दें और उन पर निरंतर निगरानी भी रखें। श्री सिंह ने चिकित्सालयों में ओपीडी में इलाज करा रहे मरीजों की चर्चा करते हुए कहा कि सभी निजी चिकित्सालयों को निर्देश दिए जाएं कि सर्दी जुकाम आदि बीमारी के आने वाले मरीजों की पूर्ण जानकारी चिकित्सालय में रखें और इसकी जानकारी लिंक पर भी दें। मरीजों को 14 दिन तक होम क्वारंटाइन रहने की सलाह दें। ऐसे मरीज जिनमें कोविड-19 के लक्षण पाए जाने पर उनकी सेम्पलिंग कराएं।

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि वार्ड निगरानी समितियों की बैठक नियमित रूप से आयोजित करें। समिति के माध्यम से लोगों को घरों से बाहर न निकलने की समझाइश दें। लॉकडाउन का पूर्ण रूप से पालन कराएं और सार्थक एवं आरोग्य एप को भी डाउनलोड आवश्यक रूप से कराएं।