संक्रमण की रोकथाम के लिये…

संभाग आयुक्त एवं एडीजी ने अधिकारियों के साथ की बैठक  



ग्वालियर। नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये ग्वालियर संभाग के दतिया जिले में किए जा रहे प्रबंधनों का निरीक्षण संभागीय आयुक्त एम बी ओझा एवं एडीजी चंबल डी पी गुप्ता ने किया। उन्होंने विभागीय अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट कार्यालय दतिया में बैठक कर की जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की। बैठक में कलेक्टर दतिया रोहित सिंह, पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर, संभागीय उपायुक्त रामकुमार शर्मा, एडीएम विवेक रघुवंशी एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

संभाग आयुक्त एम बी ओझा ने कहा कि उत्तरप्रदेश राज्य में मध्यप्रदेश के जो भी श्रमिक हैं उन्हें प्रदेश में वापस लाने हेतु दतिया जिले को नोडल जिला बनाया गया है। झांसी से प्रदेश के विभिन्न जिलों के श्रमिकों को पहुँचाने की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही उत्तरप्रदेश राज्य के जो श्रमिक मध्यप्रदेश में हैं उन्हें उत्तरप्रदेश पहुँचाने का प्रबंध भी किया जा रहा है। श्रमिकों को लाने एवं पहुँचाने की व्यवस्था बेहतर हो तथा सभी की मेडीकल स्क्रीनिंग भी अवश्य की जाए। श्रमिकों को लाने एवं पहुँचाते समय उन्हें किसी प्रकार की समस्या न हो, इस ओर भी विशेष ध्यान दिया जाए।

संभाग आयुक्त श्री ओझा ने यह भी निर्देश दिए कि जिन बसों से श्रमिकों को लाया एवं पहुँचाया जा रहा है उन्हें बेहतर तरीके से सेनेटाइज्ड कराया जाए। इसके साथ ही श्रमिकों के लिये भोजन, पानी की व्यवस्था भी बेहतर हो, यह सुनिश्चित किया जाए। नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये जिला स्तर पर सभी एहतियाती कदम उठाए जाएं। आम जनों को भी संक्रमण से बचने हेतु अपने घरों में ही रहने की समझाइश दी जाए।

संभाग आयुक्त श्री ओझा ने कलेक्टर को यह भी निर्देशित किया कि लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता हो यह भी सुनिश्चित किया जाए। दूध, सब्जी एवं खाद्यान्न हर जरूरतमंद को उपलब्ध हो, इसके लिये सावधानीपूर्वक प्रबंध किए जाएं। अनावश्यक रूप से एवं बिना मास्क के शहर में घूमने वालों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई भी की जाए।

संभाग आयुक्त ने बैठक के पश्चात दतिया-झाँसी बॉर्डर एवं दिनारा बॉर्डर का अवलोकन भी किया। नाकों पर तैनात पुलिसकर्मियों एवं चिकित्सा विभाग के चिकित्सकों और कर्मचारियों से भी कहा कि हर आने-जाने वाले पर निगरानी की जाए। बिना मेडीकल स्क्रीनिंग के कोई भी व्यक्ति नहीं आना चाहिए। बिना अनुमति के किसी भी व्यक्ति को जिले में आने एवं जाने की अनुमति नहीं है। हर आने-जाने वाले व्यक्ति की अनुमति भी देखें।

कलेक्टर दतिया रोहित सिंह ने संभाग आयुक्त एवं एडीजी को जिले में नोवेल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये किए जा रहे प्रबंधनों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। इसके साथ ही लॉकडाउन के दौरान आम जनों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता के संबंध में भी बताया।