43℃ तापमान में आइसोलेट लोगो की गर्मी से हालत गभ्भीर…
भिण्ड के कटनापुरा में बिना बिजली सुविधा के बना दिया क्वारन्टॉइन सेंटर

भिण्ड जिले के बबेडी पंचायत के ग्राम कटनापुरा में कोविड 19 के तहत  क्वारन्टॉइन सेंटर बनाया गया है।जिसमे व्यवस्था को देखने के लिए प्रशासान जिन अधिकारियों को जिम्मेदारी दी है उन्होंने शायद बिना निरीक्षण किये ही क्वारन्टाइन सेंटर बना दिये हैं,मूलभूत सुविधाएं बिना स्कूलों को भी बनाया सेंटर।

ग्राम पंचायत बबेडी के कटनापुरा में बनाया गया सेंटर पर नही है बिजली की सुविधा,42-45℃ तापमान के चलते आखिर कैसे रुके हुए हैं बाहर से आये संदिग्ध कोरोना मरीज,42-45℃ गर्मी के कारण आमजन की पंखे कूलर में भी हालात खराब हो राही है ऐसे में आखिर उनके लिए बिना बिजली सुविधा के प्रशाशन ने क्यों बनाया क्वारन्टाइन सेंटर ,गर्मी के चलते कई लोगो की तबियत बिगड़ने की स्थिति, प्रशासनिक अधिकारी मोन। ज्ञात हो कटनापुरा क्वारन्टाइन सेंटर पर 15 लोगो आइसोलेट किया गया क्वारन्टाइन सेंटर में महिला बच्चे भी है सम्मलित,बच्चों का गर्मी से हाल बेहाल।

जब इस सबन्ध में ग्रामीणों से बात की तो उन्होंने बताया विधुत विभाग द्वारा सारे गांव में विधुतीकरण के लिए खम्बे और केवलीकरण कर दिया था केबलीरण किये हुए कई वर्ष बीत चुके हैं। पर गांव में ट्रासफार्मर (डीपी) नही रखी गई हैं। ग्रामीणों ने आरोप भी लगाया की कटनापुरा गांव के लिए जो ट्रांसफार्मर स्वीकृत है बो पास के चुन्नाई में रख दिया है इस का कारण राजनेतिक दुवेष भावना बताई है। 

महज भिण्ड शहर से 10 किमी की दूरी पर स्थित है ये गांव फिर भी मूलभूत सुविधाओ से है बंचित। ग्रामीणों ने यह बिजली विभाग का यह कारनामा बताया है,बिजली बिभाग राजनेतिक दबाव में कर रहा है काम कई बार प्रशासान को करा चुके अबगत राजनेतिक दबाव के चलते बिजली विभाग कर लेता है कान बंद। बोले ग्रामीण जब यहाँ सुविधा थी ही नही तो प्रशासान ने आखिर क्यों बनाया क्वारन्टाइन  सेंटर, इतने टेम्परेचर के चलते क्या उनका बॉडी टेम्परेचर हो सकता है कम। हमें यहाँ जादा समय नही हुआ है मेरे संज्ञान में यह जानकारी नही है की ट्रासफार्मर गलत जगह रखा आपके द्वारा हमे बताया गया है हम दिखवाते है इसको क्या स्थिति है।