श्री राजपूत ने जानी कलेक्टर एवं जनप्रतिनिधियों से उनकी राय…
खाद्य मंत्री ने वीडियो कॉफ्रेंसिंग द्वारा कलेक्टरों से लॉकडाउन पर की चर्चा

ग्वालियर। प्रदेश में लागू लॉकडाउन की स्थिति की समीक्षा करते हुए खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण, एवं सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने ग्वालियर, मुरैना, नीमच एवं मंदसौर जिले के कलेक्टरों से वीडियो कांफ्रेंसिंग कर चर्चा की। कान्फ्रेंस में कलेक्टर्स के साथ संबंधित जिलों के सांसद, विधायक, पूर्व विधायक एवं अन्य जन प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। ग्वालियर कलेक्ट्रेट कार्यालय के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल में क्षेत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, जिला पंचायत अध्यक्ष मनीषा भुजवल सिंह यादव, पूर्व मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, विधायक प्रवीण पाठक, विधायक भारत सिंह कुशवाह, पूर्व विधायक मदन कुशवाह, जिला अध्यक्ष भाजपा कमल माखीजानी, ग्रामीण अध्यक्ष भाजपा कौशल शर्मा, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन सहित जनप्रतिनिधि और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 17 मई तक सभी मुख्यमंत्रियों से उनके प्रदेश में लॉकडाउन की स्थिति पर उनका अभिमत माँगा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार श्री राजपूत विभिन्न जिलों के विधायक एवं जनप्रतिनिधियों से जिले की समीक्षा कर रहे थे। कलेक्टर नीमच ने बताया कि जिले में 38 कोरोना पॉजिटिव हैं, जिनका इलाज चल रहा है। ग्रामीण क्षेत्र कोरोना से सुरक्षित हैं। नगरीय क्षेत्रों में बाजार आवश्यतानुसार एक दिन के अंतराल से दो चरणों में खोले जा सकते हैं। कलेक्टर मुरैना ने कहा कि जिले में 25 केस वर्तमान में पॉजिटिव हैं। वे स्वास्थ्य लाभ ले रहे है। शहर सामान्य स्थिति की ओर है यहां धीरे-धीरे आवश्यकतानुसार दुकानें खोली गई हैं। कलेक्टर ने कहा जिले में 5 कन्टेन्मेंट वाले क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन क्रमश: खोला जाना चाहिए।

श्री राजपूत ने कलेक्टर ग्वालियर एवं जनप्रतिनिधियों से उनकी राय जानी। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि जिले में 21 कन्टेन्मेंट क्षेत्र है। 32 कोरोना पॉजिटिव में से 07 रिकवर होने के बाद शेष 25 के स्वास्थ्य में सुधार है।उन्होंने कहा कि कन्टेन्मेंट क्षेत्र को छोडकर शेष स्थानों पर क्रमशः सभी गतिविधियाँ चालू की जा सकती हैं जिससे दैनिक कार्य पुनः प्रारंभ हो सकें। मंत्री श्री राजपूत द्वारा जिले में कोरोना की स्थिति पर पूछे जाने पर कलेक्टर मंदसौर ने बताया कि जिले में 56 केस एक ही कन्टेन्मेंट क्षेत्र में एक ही परिवार से संबंध रखने वालों के हैं। 

जिले में 16 कन्टेन्टमेंट क्षेत्र थे जिनमें से 9 क्षेत्रों को कंटेन्मेंट से मुक्त किया जा चुका है। सभी जिलों के जनप्रतिनिधियों ने मंत्री श्री राजपूत से उनके क्षेत्र के लोगों को अन्य राज्यों से वापस बुलाने तथा उनके लिए रोजगार एवं खाद्यान्न की व्यवस्था का अनुरोध किया। गेहूँ उपार्जन में किसानों की समस्या की ओर भी ध्यान आकर्षित किया। मंत्री श्री राजपूत ने सभी को आश्वस्त किया कि उनकी माँगों पर शीघ्र ही कार्रवाई की जायेगी।इस अवसर पर प्रमुख सचिव खाद्य शिवशेखर शुक्ला ने भी कलेक्टर्स से चर्चा की।