सरकार सभी पत्रकारो को दे दस हजार की सहायता…

ग्वालियर प्रेस क्लब ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र


ग्वालियर। कोविद-19 का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश भर में कोरोना संकट के कारण जारी लॉकडाउन के चलते सभी काम-काज बंद हैं। लेकिन इसके बावजूद भी कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मीडियाकर्मी अपनी जान की परवाह न करते हुए तमाम जोखिमों के बीच ड्यूटी कर रहा है और कोरोना वायरस संक्रमण के जुड़ी घटना क्रमों से लोगों को रूवरू करने में महत्वपूर्व  भूमिका निभा रहे हैं। 

साथ ही इस कठिन समय में जन-जन तक जागरूकता फैलाने का काम पत्रकार कर रहे है। आज कोरोना महामारी और उपजी मंदी में प्रिंट मीडिया का अस्तित्व संकट में डाल दिया है। जहां एक ओर संस्थाओं में  छटनी एवं स्थानांतरण के नाम पर पत्रकारों को हटाया जा  रहा है। वहीं सरकार द्वारा लघु समाचार पत्र-पत्र पत्रिकाओं को दिये जाने वाले विज्ञापनों पर भी रोक लगा दी गई है।

ऐसे में मीडिया कर्मी आर्थिंक संकट के दौर से गुजर रहे है। ऐसे में आर्थिक रूप से परेशान पत्रकारों के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहायता योजना का एलान कर जरूरतमंद पत्रकारों और मीडिया कर्मियों को दस -दस हजार रूपये की मदद करे ।

ग्वालियर प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश शर्मा, सचिव सुरेश शर्मा ने कहा कि बीते रोज ग्वालियर प्रेस क्लव द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को पत्र लिखकर मीडियाकर्मी के प्रति गंभीरता दिखाई जाने की बात कही गई थी और पत्रकारों को आर्थिक रूप से सहयोग करने के लिए लिखा गया था। प्रेस क्लव ने सभी  लघु समाचार पत्र, पत्र-पत्रिकाओं के साथ इलेक्ट्रोनिक मीडिया तथा पोर्टल के विज्ञापन रूपी सहयोग की बात कही गयी थी।

ग्वालियर प्रेस क्लब प्रेदश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से पुन: अनुरोध करता है कि जरूरतमंद पत्रकारों को मीडिया कर्मियों को 10000 रूपये की मदद की जाए। ताकि इस संकट के दौर में पत्रकारों को राहत मिल सके।