साथ ही किया जाएगा मध्यप्रदेश मंत्रिमंडल का विस्तार…
राज्यसभा चुनावों के लिए मई के अंतिम सप्ताह में हो सकता है मतदान

देश में 18 राज्यसभा चुनावों के लिए मतदान लाक डाउन 4 के दौरान  17मई के बाद अंतिम सप्ताह में चुनाव आयोग के निर्देशानुसार राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान होने के संकेत है। प्राप्त जानकारी अनुसार मध्यप्रदेश में तीन राज्यसभा चुनाव के लिए चार प्रत्याशी मैदान मे हैं भाजापा से ज्योतिरादितया सिंधिया तथा सुमेर सिंह कांग्रेस के दिग्विजय सिंह के अलावा फूल सिंह बरैया है।

मध्यप्रदेश विधानसभा में 206 विधायकों में से 107 भा जा पा 92 कांग्रेसी चार निर्दलीय दो बीएसपी एक सपा के विधायक हैं। सूत्रों अनुसार प्रथम वरीयता के 52 विधायको के मतदान अनुसार भा जा पा के दोनों प्रत्याशियों ज्योतिरादितय सिंधिया तथा सुमेर सिंह की जीत सुनिश्चित है। वहीं कांग्रेस के दिग्विजय सिंह के अलावा फूल सिंह बरैया 2 में से एक पर कांग्रेस के विधायक किस पर मुहर लगाते हैं।

यह तो समय की बलिहारी है अगर कोई राजनीतिक संकट नहीं आया तो दिग्विजय सिंह का निर्वाचित होना तय है। राजनीतिक सूत्रों अनुसार फूल सिंह बरैया को तो कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह के दबाव में आकर आरक्षित वोटों को साधने के लिए फूल सिंह बरैया को प्रत्याशी बनाया था। सूत्रों अनुसार फूल सिंह बरैया राज्यसभा सभा चुनाव की हार के बाद कांग्रेस भांडेर विधानसभा उपचुनाव में प्रत्याशी हो सकते हैं। 

राजय सभा के चुनावों के नतीजों के बाद ही केंद्रीय मंत्रिमंडल का पुनर्गठन।  हो सकता है जिसमें ज्योतिरादितया सिंधिया को केंद्रीय मंत्री बनाए जाना ते माना जा रहा है। अन्य जानकारी अनुसार राज सभा चुनावों के साथ ही मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा उसके बाद ही चुनाव आयोग विधानसभा उपचुनावों के लिए जून के अंतिम सप्ताह में अधिसूचना जारी कर सकता है।