सरकार का लॉकडाउन 5.0 पर मंथन जारी…
गृह मंत्री ने सभी मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन 5.0 को लेकर मांगे सुझाव 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लॉकडाउन-4 पर गुरुवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की. उन्होंने लॉकडाउन 4.0 को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के विचार जाने. अमित शाह ने लॉकडाउन 4.0 के वर्तमान हालात पर चर्चा की. गृह मंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से 31 मई के बाद लॉकडाउन पर उनके राज्यों की क्या राय है और आगे वह क्या सोचते हैं इसपर उनके विचार जाने. बता दें कि लॉकडाउन-4 की अवधि 31 मई को खत्म हो रही है. क्या देश में लॉकडाउन 5.0 लागू होगा, फिलहाल सबकी नजर इसपर है.

हालांकि, सरकार का लॉकडाउन 5.0 पर मंथन जारी है. लॉकडाउन चार के खत्म होने के पहले ही लॉकडाउन-5 की आहट सुनाई देने लगी है. 31 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात करेंगे. सूत्रों का कहना है कि मन की बात में पीएम मोदी बहुत कुछ साफ कर सकते हैं. वैसे सूत्रों का यही कहना है कि दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन का बढ़ना लगभग तय है. सरकार ज्यादा छूट देकर अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिश करती दिख रही है. लेकिन जो जिले कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं उन्हें इस बार भी राहत मिलने की उम्मीद कम है. सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन 5 में 11 शहरों पर सख्ती जारी रहेगी. ये वो शहर हैं जहां कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है.

जिन शहरों में पाबंदी जारी रह सकती है वो दिल्ली, मुंबई, बैंगलुरू, पुणे, ठाणे, इंदौर, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत और कोलकाता हैं. इन 11 शहरों में भारत में कुल कोरोना संक्रमित केस के 70 फीसदी मामले मिले हैं, जबकि अहमदाबाद, दिल्ली, पुणे, कोलकाता और मुंबई में ये और खतरनाक है. यहां देश के कुल मरीजों के 60 फीसदी लोग पाए गए हैं. लॉकडाउन के पांचवें चरण में केंद्र की ओर से धार्मिक स्थलों को खोलने की छूट दी जा सकती है, लेकिन नियम और शर्तें लागू रहेंगी. लॉकडाउन 5.0 के दौरान सभी जोन में सैलून और जिम को खोलने की इजाजत दी जा सकती है, सिर्फ कंटेनमेंट जोन छोड़कर. बताया जा रहा है कि शादी और अंतिम संस्कार में कुछ और लोगों को शामिल होने की छूट दी जा सकती है.