किसान कर्जमाफी को बताया घोटालेबाजी...

राहुल और कमलनाथ पर दर्ज कराऊंगा केस : श्री पटेल


भोपाल। प्रदेश में किसान कर्जमाफी में घपलेबाजी को लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल ने राहुल गांधी और पूर्व सीएम कमलनाथ के खिलाफ केस दर्ज कराने की बात कही है. उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ पर किसानों के साथ दगाबाजी करने का आरोप भी लगाया है.

कृषि मंत्री ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने के बजाय उनके साथ दगाबाजी की है. इससे राज्य के किसान काफी परेशान हैं. इस मामले में कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि राज्य में बीजेपी की सरकार 15 वर्षों तक थी. इन 15 वर्षों में बीजेपी की सरकार ने राज्य का पूरा खजाना खाली कर दिया था. फिर भी हमारी सरकार ने 1 लाख किसानों का कर्ज माफ किया.

क्या अब आप किसानों से पैसा वापस लेंगे? सिंघार ने कहा कि हमने दगाबाजी नहीं की और हमने जो वायदा किया वो पूरा किया. पिछले दिनों कृषि मंत्री कमल पटेल ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर आरोप लगाया था कि राज्य में किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ है और पूर्व राज्य सरकार ने किसान कर्जमाफी का पैसा विज्ञापनों में दे दिया था.

इस मामले में कांग्रेस नेता सचिन यादव ने भी पलटवार किया है. यादव ने कृषि मंत्री कमल पटेल पर आरोप लगाया कि हमने तो किसानों के कर्ज चरणबद्ध तरीके से माफ किये हैं. उन्होंने कहा कि राज्य में उनके सरकार के दौरान पहले चरण में दो लाख तक के एनपीए खातेदार किसानों और 50 हज़ार तक के चालू खाते वाले किसानों का कर्ज माफ किया गया था.

जबकि दूसरे चरण में 50 हजार रुपये से लेकर 1 लाख रुपये तक कर्जदार किसानों का कर्ज माफ किया था. इसके अवाला कांग्रेस नेताओं ने राज्य की बीजोपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अगर बीजेपी सरकार किसान कर्ज माफी योजना बंद की तो कांग्रेस किसानों के साथ सड़क पर उतरकर आंदोलन करेगी.

साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति करने के बजाय किसानों के गेहूं खरीद और संवर्धन मूल्य दिलाने पर ध्यान दे, ताकि किसानों को उपज का उचित मूल्य मिल सके.