कैट की मार्मिक अपील…

अपने कर्मचारियों की हर जरूरत का ध्यान रखें व्यापारी : कैट


ग्वालियर। देश के सात करोड़ छोटे एवं मझोले व्यापारी बन्धुओं के सबसे बड़े संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन सहित सभी पदाधिकारियों ने आज शनिवार को मार्मिक व भावपूर्ण अपील करते हुए सभी व्यापारिक संस्थाओं के संचालकों व प्रबंधन से अनुरोध किया कि नोवेल कोरना वायरस के संक्रमण से उपजे संकट को देखते हुए वे अपने स्टाफ, कर्मचारियों को अपने परिवार का ही सदस्य मानते हुए उनका पूरा ध्यान रखें। लॉक डाउन के चलते हुए भले ही उनके संस्थान नहीं खुल रहे हैं लेकिन वे टेलीफोन, मोबाइल व अन्य संचार माध्यमों के जरिए अपने कर्मचारियों के सतत संपर्क में बने रहें एवं हर रोज उनकी व उनके परिवार की खैर-खबर लेते रहें।

कैट की मप्र इकाई के अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन, महामंत्री मुकेश अग्रवाल एवं संयुक्त सचिव मनोज चौरसिया, ग्वालियर इकाई के कोआर्डिनेटर दीपक पमनानी, अध्यक्ष रवि गुप्ता, संयुक्त सचिव मयूर गर्ग ने इस संयुक्त अपील में सभी व्यापारी संस्थाओं के संचालकों से कहा है कि उन्हें दृढ़ विश्वास के साथ अपने मन में यह बात बिठाए रखना है कि वे भले ही छोटे, मझोले या बड़े व्यापारी हैं, जो भी उपलब्धियां हासिल की हैं, वह अपने स्टाफ व कर्मचारियों के परिश्रम व सहयोग से ही अर्जित की हैं। इस समय पूरी दुनिया सहित हमारा देश व हमारा शहर भी कोरोना संक्रमण की विपदा से जूझ रहा है। जरा सी लापरवाही एक बड़ी बीमारी को जन्म दे सकती है।

कैट पदाधिकारियों की अपील में कहा गया है कि व्यापारीबन्धुओं को यह बात ध्यान में रखनी है कि कोरोना का खतरा सिर्फ उनके दरवाजे ही नहीं बल्कि उनके कर्मचारियों के घर के बाहर भी खड़ा है। इसलिए अपने स्टाफ से नियमित संपर्क बनाए रखना जरूरी है। हम अपने संस्थान के कर्मियों की फिक्र करेंगे तो वे भी हमारी चिंता करेंगे। यदि हमारा कोई कर्मचारी मास्क व सेनेटाइजर जैसी अत्यावश्यक चीजें नहीं ले पाया है तो हमारा फर्ज है कि उनके घरों तक ये रोगरक्षक संसाधन पहुंचाएं। उनके घरों में राशन-पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करें। यदि हमारे किसी कर्मचारी में कोरोना जैसे संदेहपूर्ण लक्षण या सर्दी, जुकाम, बुखार है तो उन्हें अस्पताल तक पहुंचाने की व्यवस्था भी करें।