मुख्यमंत्री ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ...

दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों के खाते में शिवराज सरकार की सौगात


भोपाल। लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में फंसे मध्य प्रदेश के मजदूरों के लिए मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने मदद का हाथ बढ़ाया है. मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से मध्य प्रदेश को कोरोना संकट से उभारने में जुटे शिवराज चौहान ने अब मजदूरों को तत्काल राहत राशि देने का फैसला किया है. शिवराज सरकार ने निर्णय लिया है कि मुश्किल की घड़ी में अलग-अलग राज्यों में फंसे मजदूरों के खाते में 1-1 हजार रुपए की राहत राशि डाली जाएगी. ताकि इन परिवारों की थोड़ी मदद हो सके और वो घरों से बाहर न निकलें.

बुधवार को शिवराज चौहान ने कहा कि दूसरे राज्यों में फंसे लोग चिंतित न हों, जरूरत पड़ने पर और पैसे भेजे जाएंगे. संबंधित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से बातकर जरूरतमद लोगों के रहने-ठहरने और खाने-पीने की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है. साथ ही सीएम शिवराज ने अपील की है कि जिन भी जनप्रतिनिधियों के पास दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की लिस्ट हो, वो तुरंत सरकार तक पहुंचाएं. जिससे मजदूरों तक जल्द से जल्द राहत राशि पहुंचाई जा सके.

लोगों को कोरोना संक्रमण से दूर रखने और लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए शिवराज सरकार राशनकार्ड धारकों को दो महीने का राशन देने के बारे में सोच रही है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि पहले कोरोना की टेस्टिंग क्षमता नहीं थी, लेकिन अब 9 लैब्स कोरोना संदिग्धों के सैंपल्स की जांच कर रही हैं. साथ ही कुछ सैंपल को जांच के लिए राजधानी दिल्ली भेजा जा रहा है.