जान बचाकर भागे कर्मचारी...

बिहार के क्वारनटीन सेंटर में कोरोना संदिग्धों ने किया पथराव


बिहार में सीवान के क्वारनटीन सेंटर में कोरोना वायरस के संदिग्धों ने प्रशासन पर पथराव किया है. यह घटना रघुनाथपुर के राजपुर मिडिल स्कूल में बनाए क्वारनटीन सेंटर की है. बताया जा रहा है कि पथराव के बाद सभी सरकारी कर्मचारी जान बचाकर मौके से भागे.

हालांकि सीवान वाली घटना में अभी ये जानकारी नहीं मिल पाई है कि कोरोना वायरस के संदिग्धों ने सरकारी कर्मचारियों पर पथराव क्यों किया है. लेकिन बिहार में कोरोना वायरस से निपटने के लिए बनी टीम पर हमला का यह कोई पहला मामला नहीं है.

बिहार के मुंगेर जिले में भी कोरोना वायरस से निपटने वाली मेडिकल टीम पर हमला हो चुका है. बीते बुधवार शाम को बिहार के मुंगेर जिले में मेडिकल टीम स्थानीय पुलिस के साथ मुंगेर के कासिम बाजार थाना क्षेत्र अंतर्गत हजरतगंज बाड़ा गली नंबर 15 में COVID-19 संदिग्धों की जांच करने पहुंची थी. यह वही इलाका है, जहां सोमवार रात एक आठ साल की बच्ची की मौत हो गई थी.

प्रशासन को इस बात की आशंका थी कि कहीं बच्ची की मौत कोरोना वायरस की वजह से तो नहीं हुई है. अगर ऐसा हुआ तो फिर उनके सगे-संबंधियों को क्वारनटीन करना होगा.

बुधवार शाम को जैसे ही पूरी टीम इलाके में पहुंची वहां मौजूद स्थानीय लोगों और कुछ असामाजिक तत्वों ने उन पर हमला कर दिया. भीड़ ने पुलिस की गाड़ी के शीशे तोड़ दिए. बाद में पुलिस ने जब सख्ती दिखाई तो मामला शांत हुआ. अच्छी बात यह रही कि इस हमले में मेडिकल टीम के किसी भी सदस्यों को चोट नहीं आई. वहीं सभी पुलिसकर्मी भी बाल-बाल बच गए.