72 नए मामले आए सामने...

देश में COVID-19 से संक्रमित लोगों की संख्या हुई 1613


नई दिल्ली। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या आज बढ़कर 1613 हो गई. इनमें से अब तक 35 लोगों की मौत हो चुकी है और 148 लोग ठीक हुए हैं. दिल्ली, महाराष्ट्र और तमिलनाडु में संक्रमित लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है. महाराष्ट्र में मंगलवार को COVID-19 के 72 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 302 तक पहुंच गई.

केरल में कोरोना वायरस के आज सात नये मामले दर्ज किये गये. जिसके बाद यहां संक्रमित लोगों की संख्या 241 हो गई. तमिलनाडु में आज 55 नए मामले आए हैं. इनमें से 50 वो हैं जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज़ सम्मेलन में भाग लिया था. राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 124 हो गई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी आज 23 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, 23 नए मामलों के साथ ही दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या 120 हो गई है.

अन्य राज्यों की बात करें तो कर्नाटक में 101, उत्तर प्रदेश में 101, राजस्थान में 93, तेलंगाना में 92, गुजरात में 74, मध्य प्रदेश में 66, जम्मू-कश्मीर में 55, हरियाणा में 43, पंजाब में 41, आंध्र प्रदेश में 40, पश्चिम बंगाल में 27, बिहार में 21, चंडीगढ़ में 13, लद्दाख में 13, अंडमान-निकोबार में 10, छत्तीसगढ़ में 8, छत्तीसगढ़ में 8, उत्तराखंड में 7, गोवा में 5, हिमाचल प्रदेश में 3, ओडिशा में 3, असम, झारखंड, मणिपुर, मिजोरम और पुडुचेरी में एक-एक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में कुछ दिनों पहले हुये एक धार्मिक जमावड़े के दौरान कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की आशंकाओं पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा कि यह समय, किसकी गलती है, ये खोजने का नहीं है बल्कि संक्रमण को रोकने के लिये काम करने का है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण को रोकने के लिये लागू किये गये देशव्यापी लॉकडाउन का पालन ठीक से नहीं होने के कारण मामले बढ़ रहे हैं. इनके साथ ही संक्रमण के खतरे वाले इलाके (हॉटस्पॉट) भी बढ़ रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने संक्रमण के मामले रोकने के लिये लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित करने को ही एकमात्र उपाय बताते हुये कहा कि इसकी रोकथाम के लिये सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति के लिये विदेश मंत्रालय के साथ मिलकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने तुर्की, दक्षिण कोरिया और वियतनाम के आपूर्तिकर्ताओं से संपर्क स्थापित किया है.