अस्पताल की व्यवस्थाओं के संबंध में ली बैठक...

जेएएच की सभी यूनिटों को बेहतर बनाया जाए :  श्रीमंत सिंधिया


ग्वालियर 03 मार्च 2020/ गजराराजा चिकित्सा समूह आम जनों के बेहतर स्वास्थ्य के लिये अच्छे से कार्य करे। अस्पताल की बेहतरी के लिये जो भी धनराशि जरूरी होगी उसे प्रदेश सरकार से दिलाया जायेगा। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को अस्पताल परिसर में निर्मित सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में विभागीय चिकित्सकों की बैठक में यह बात कही।

बैठक में प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर, विधायक ग्वालियर पूर्व मुन्नालाल गोयल, विधायक ग्वालियर दक्षिण प्रवीण पाठक, कलेक्टर अनुराग चौधरी, पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, जिला कांग्रेस अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा, डीन मेडीकल कॉलेज, अधीक्षक सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल, एडीएम  किशोर कान्याल सहित चिकित्सक एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जयारोग्य चिकित्सालय समूह ग्वालियर का महत्वपूर्ण चिकित्सालय है। इसमें न केवल ग्वालियर अंचल के बल्कि उत्तरप्रदेश व राजस्थान तक के मरीज इलाज कराने आते हैं। अस्पताल की व्यवस्थाओं को और बेहतर करने हेतु जो भी आवश्यकतायें हैं उसका प्रस्ताव तैयार कराया जाए। प्रदेश सरकार की ओर से हर संभव सहयोग दिलाया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी अस्पताल का आईसीयू, ट्रॉमा सेंटर तथा बर्न यूनिट सबसे महत्वपूर्ण होता है, इसे बेहतर होना आवश्यक है।

जयारोग्य चिकित्सालय के आईसीयू को आधुनिक बनाने के लिये डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए गए। इसके साथ ही ट्रामा सेंटर को भी तत्परता से तैयार करने के निर्देश दिए गए। एक हजार बिस्तर के निर्माण का कार्य भी निर्बाध रूप से चलता रहे, इसके लिये शासन स्तर से धनराशि जारी कराने की कार्रवाई भी शीघ्र की जायेगी। श्रीमंत सिंधिया ने कमलाराजा अस्पताल के आईसीयू का विस्तार तथा महिलाओं के लिये बिस्तरों की संख्या बढ़ाने के निर्देश भी दिए।

मेडीकल वेस्ट मटेरियल का डिस्पोजल करने हेतु ईडीपी यूनिट का प्रस्ताव भी तैयार करने के निर्देश बैठक में दिए गए। श्रीमंत सिंधिया ने बैठक में कलेक्टर से कहा कि अस्पताल के जो भी प्रोजेक्ट तैयार किए जाएं, उसकी निरंतर मॉनीटरिंग की जाए। शासन स्तर से जो भी सहयोग अपेक्षित है उसकी एक रिपोर्ट तैयार कर भेजें, ताकि शासन स्तर से स्वीकृति कराई जा सके।

प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भी बैठक में कहा कि अस्पताल की व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाए जाना आवश्यक है। इसके लिये अस्पताल प्रशासन प्रस्ताव तैयार करे। शासन स्तर से हर संभव सहयोग दिलाया जायेगा। विधायक प्रवीण पाठक ने भी कमलाराजा अस्पताल की व्यवस्थाओं के संबंध में अपने सुझाव दिए। उनके सुझाव पर ही कमलाराजा अस्पताल के आईसीयू का विस्तार एवं पलंगों की संख्या बढ़ाने के दिशा-निर्देश दिए गए।

बैठक में कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कहा कि अस्पताल के लिये जो भी प्रस्ताव तैयार किए जाना हैं वह तत्परता से तैयार कर जनप्रतिनिधियों से चर्चा के उपरांत शासन स्तर पर भेजे जायेंगे। अस्पताल की व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाने के लिये सभी के समन्वित प्रयास से निरंतर कार्य किया जायेगा।

बैठक में डीन मेडीकल कॉलेज ने अस्पताल समूह की विभिन्न व्यवस्थाओं तथा एक हजार बिस्तर के निर्माण के साथ-साथ सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में चिकित्सकों की भर्ती हेतु शासन स्तर से जो शर्तें निर्धारित की गई हैं उनमें कुछ सुधार आवश्यक है, ताकि चिकित्सकों की भर्ती की जा सके। इसका प्रस्ताव भी शासन स्तर पर तैयार कर भेजा जायेगा।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बैठक के पूर्व जेएएच अस्पताल परिसर में स्थित आईसीयू यूनिट का भी निरीक्षण किया। आईसीयू की व्यवस्थाओं को देखकर श्रीमंत सिंधिया ने इसे और बेहतर करने के निर्देश दिए। वर्तमान की स्थिति पर उन्होंने असंतोष व्यक्त भी किया।